इस्लामिक स्टेट समूह ने की बोको हराम के नए नेता की घोषणा

लागोस।… नाइजीरिया के आतंकी संगठन बोको हराम के इस्लामी चरमपंथियों को अपना एक नया नेता मिल गया है, जो मस्जिदों और आम मुस्लिमों के बाजारों पर हमले बंद करने और गिरिजाघरों पर बम हमले करने और ईसाइयों को मारने की धमकी दे रहा है। यह जानकारी इस्लामिक स्टेट समूह द्वारा बुधवार को प्रकाशित किए गए एक साक्षात्कार के जरिए दी गई है।

इस्लामिक स्टेट के अखबार अल-नबा में कल प्रकाशित इस साक्षात्कार का अनुवाद खुफिया समूह एसआईटीई ने जारी किया। इसके अनुसार, यह नया नेता यह भी कहता है कि पश्चिमी देशो की साजिश इस क्षेत्र पर ईसाई तौर-तरीके लागू करने की है। उसने कल्याणार्थ काम करने वाली संस्थाओं पर आरोप लगाया कि वे ऐसा करने के लिए पश्चिमी देशों की मदद ले रहे हैं।

अखबार ने अबु मूसाब अल-बरनावी को अपने कथित पश्चिमी अफ्रीकी प्रांत का नया ‘वली’ या गवर्नर घोषित किया है। इससे पहले ‘वली’ उपाधि का इस्तेमाल बोको हराम के लंबे समय तक नेता रहे अबुबकर शेकाउ के लिए किया जाता था।

इस रिपोर्ट में अबुबकर की मौजूदा स्थिति का जिक्र नहीं किया गया। हालांकि कई सप्ताह से ऐसी अफवाहें हैं कि उसकी जगह किसी नए नेता ने ले ली है।

अल-बरनावी को दिया गया साक्षात्कार नाइजीरियाई चरमपंथियों की रणनीति में एक बड़े बदलाव की ओर इशारा करता है। नाइजीरिया के चरमपंथी मस्जिदों पर आत्मघाती बम हमलावरों और बंदूकधारियों की मदद से हमले बोलकर ईसाइयों से कहीं ज्यादा मुस्लिमों को मार चुके हैं।

इसके अलावा ये लोग मुस्लिम बहुल इलाकों के भीड़ भरे बाजारों में भी हमले कर चुके हैं और स्कूली बच्चों के अपहरण और हत्याएं भी कर चुके हैं।

छात्रों को निशाना बनाने का संबंध इस संगठन के नाम ‘बोको हराम’ से है, जिसका अर्थ है कि पश्चिमी शिक्षा अपराध है और यह निषेध है।