हल्द्वानी के शहीद स्मारक में फहरेगा उत्तराखंड का सबसे ऊंचा राष्ट्रीय ध्वज, वैदिक मंत्रों के साथ हुआ भूमि पूजन

हल्द्वानी के शहीद स्मारक पार्क में उत्तराखण्ड का सबसे ऊंचा एवं बडा 150 फिट ऊंचा भारतीय राष्ट्रीय ध्वज स्थापना हेतु वैदिक मंत्रों के बीच भूमि पूजन सूबे की वित्त मंत्री डा0 श्रीमती इन्दिरा हृदयेश एवं मेयर डा0 जोगेन्द्रपाल सिंह रौतेला द्वारा किया गया।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए वित्त मंत्री डा0 हृदयेश ने कहा कि प्रत्येक नागरिक को देश के विकास में अपना योगदान देना चाहिए, यह तब ही सम्भव है जब हम अपने दायित्वों का ईमानदारी से निर्वहन करें। उन्होनें कहा कि प्रत्येक स्वतंत्र राष्ट्र का अपना एक ध्वज होता है। भारतीय राष्ट्रीय ध्वज को 22 जुलाई 1947 को संविधान सभा द्वारा अपनाया गया था। राष्ट्र को स्वतंत्र कराने में लाखों लोगों ने अपने प्राण न्यौछावर किये हैं, तब जाकर हम आज स्वतंत्र होकर जी रहे हैं। हमें राष्ट्रीय ध्वज का सम्मान करना चाहिए। राष्ट्रीय ध्वज को देखकर हमारे भीतर एक जोश भर जाता है और देश के प्रति कुछ कर गुजरने की इच्छा जागृत होती है।
वित्त मंत्री डा0 हृदयेश ने परिर्वतन एक संकल्प समिति के इस राष्ट्र कार्य की सरहाना की।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मेयर डा0 जोगेन्द्रपाल सिंह रौतेला ने कहा कि यह एक देश भावना का कार्य है। परिर्वतन एक संकल्प समिति काफी समय से इस कार्य के लिए प्रयासरत थी। उनके लगन एवं प्रयास से इस कार्य के लिए नगर निगम द्वारा शहीद स्मारक पार्क का चयन किया गया। परिर्वतन एक संकल्प समिति का यह कार्य देशभावना से औतप्रोत है। वास्तव में यह हम सभी की देश के शहीदों के लिए एक सच्ची श्रद्धांजलि होगी। जब भी कोई पर्यटक इस पार्क में आयेगा उसका हृदय रोमांचित हो जायेगा एवं देशप्रेम भी भावना जागृत होगी। उन्होने समिति के सदस्यों से कहा कि इस कार्य के लिए वह अधिक से अधिक जन सहयोग प्राप्त करें, जिससें उनमें पार्क के प्रति अपनत्व की भावना जागृत होगी और वह पार्क को सुन्दर व आकर्षित बनाने में अपना सहयोग देंगे।

कार्यक्रम में पूर्व पालिकाध्यक्ष रेणु अधिकारी, सिटी मजिस्ट्रेट हरबीर सिंह, उप जिलाधिकारी पंकज उपाध्याय के अलावा वरूण प्रताप भाकुनी, प्रेम चैधरी, राकेश कुमार अग्रवाल, नीरज बिष्ट सहित अनेक गणमान्य मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन प्रभाकर जोशी द्वारा किया गया।