मां, बेटी का सामूहिक बलात्कार, 14 लोग हिरासत में

उत्तर प्रदेश में बुलंदशहर के करीब एक महिला और उसकी किशोर बेटी के साथ कथित तौर पर किए गए सामूहिक बलात्कार मामले में आज 14 लोगों को हिरासत में लिया गया जबकि मुख्य आरोपी को पकड़ने के लिए 15 टीमों को भेजा गया है जिसकी पहचान हो गई है।

शुक्रवार रात को हुई घटना के बाबत संदिग्धों से पूछताछ की जा रही है। उस रात एक परिवार कार से नोएडा से शाहजहांपुर पर जा रहा था।

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि परिवार ने मुख्य संदिग्ध की पहचान कर ली है। पुलिस ने उसके ठिकाने का पता लगा लिया है और 15 टीमों को उसे पकड़ने के लिए भेजा गया है।

उन्होंने कहा कि एसटीएफ की टीमें कार्रवाई कर रही हैं और बुलंदशहर, मेरठ और अन्य राज्यों में छापेमारी कर रही हैं।

एसएसपी वैभव कृष्ण ने बताया कि डाकुओं के एक समूह ने परिवार का रास्ता रोका और 13 वर्षीय किशोरी सहित महिला को घसीट कर पास के खेत में ले गए और उनके साथ बलात्कार किया, जबकि पुरूषों को रस्सी से बांध दिया।

उन्होंने कहा कि उनसे नकदी, गहने और मोबाइल फोन भी लूट लिए गये।

कृष्ण ने बताया कि परिवार का एक सदस्य रस्सी खोलने में कामयाब रहा और मामले की सूचना पुलिस को दी।

उन्होंने कहा कि भारतीय दंड संहित की विभिन्न धाराओं के तहत एक प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है।

एसएसपी ने बताया कि देहात कोतवाली के एसएचओ रामसेन को मामले के प्रभार से मुक्त कर उन्हें पुलिस लाइंस से संबद्ध कर दिया है क्योंकि मामले में पुलिस को उनकी लापरवाही की सूचना मिली थी।