गुडगांव में आफत : जो कल घर से निकले थे वो आज भी घर नहीं पहुंचे

गुडगांव : हाल ही में गुडगांव अपना नाम बदले जाने के कारण सुर्खियों में था। इसका नाम बदलकर गुरुग्राम कर दिया गया था, जिस पर बहुत हायतौबा भी मची थी। लेकिन अब गुडगांव में कुछ ऐसा हुआ है जिससे वह फिर से चर्चा में आ गया है।

गुडगांव में बीते 16 घंटे से भारी बारिश हो रही है। इसके कारण कई इलाकों में भयंकर जाम लगा हुआ है। वहीं यहां शुक्रवार सुबह ही एक बार फिर से बारिश शुरू हो गई है।

गुरुवार शाम को जब लोग दफ्तर से अपने घर जाने के लिए निकले तो जाम में फंस गए और अभी तक फंसे हुए हैं। यह जाम शाम 6 बजे से लगा हुआ।

इस इलाके में धारा 144 लगा दी गई है। गुड़गांव पुलिस ने ट्वीट कर दिल्ली के लोगों से गुड़गांव की तरफ न आने की अपील की है। जाम की वजह से यहां दो दिनों के लिए स्कूलों को बंद कर दिया गया है। यह हिंदुस्‍तान के इतिहास में पहली बार लिया गया एसा फैसला है कि जाम की वजह से स्‍कूल बंद किए गए हों।

वैसे तो कई जगह जाम लगा हुआ है, लेकिन एनएच-8 और सोहना रोड पर कई किलोमीटर लंबा जाम लगा हुआ है।

मुख्य सचिव ने मीटिंग के जरिए हालात से निपटने के लिए कई योजनाएं बनाई हैं। डीसीपी सत्यप्रकाश ने कहा कि जो भी जाम के लिए दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी और तीन दिन में सड़कों की हालत में सुधार के निर्देश दिए गए हैं।

गुड़गांव पुलिस ने ट्वीट करके बताया कि रेवारी, जयपुर की तरफ ट्रैफिक जाम है। गुड़गांव से मानसरोवर जयपुर की ओर पूरी तरह से रोड ब्लॉक है। जाम पर काबू पाने के लिए ट्रैफिक पुलिस के साथ गुड़गांव पुलिस भी जुटी हुई है।

जयपुर की ओर जाने वाला ट्रैफिक पूरी तरह से ब्लॉक है। गुड़गांव पुलिस ने ट्वीट करके भी इसकी जानकारी दी कि सारे डीसीपी पिछले 6 घंटे से सड़क पर उतरे हुए हैं।