15 अगस्त के दिन पीएम मोदी की जान को खतरा सुरक्षा एजेंसियों ने किया आगाह

सुरक्षा एजेंसियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जान को खतरा बताया है। एजेंसियों ने सलाह दी है कि उनको 15 अगस्त को लालकिले से बुलेटप्रूफ सुरक्षा में भाषण देना चाहिए।

मिली जानकारी के मुताबिक खूफिया विभाग और एसपीजी की ओर से यह बात राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल से कही गई है।

टाईम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के मुताबिक माना जा रहा है इस एजेंसियों की ओर से जताई जा रही आशंका के मद्देनजर प्रधानमंत्री मोदी इस बार बुलेटप्रूफ शीशे के अंदर से ही भाषण देंगे क्योंकि इस बार उनकी सुरक्षा को लेकर गंभीर खतरा बताया गया है।

अगर प्रधानमंत्री के भाषण के लिए बुलेटप्रूफ शीशा लगाया जाता है तो यह ऐसा पहला मौका होगा। इससे पहले पीएम मोदी ने किसी भी मौके पर इस तरह की सुरक्षा में भाषण नहीं दिया है।

आपको बता दें कि पिछले 2 सालों में मोदी के लालकिले में भाषण देने से कुछ मिनट पहले ही बुलेटप्रूफ सुरक्षा को हटाने का फैसला किया गया था।

सुरक्षा से जुड़े एक उच्चाधिकारी ने बताया कि कश्मीर में हुई हिंसा और सीमा पार से घुसपैठ ही सिर्फ चिंता की बात नहीं है बल्कि कुछ बातचीत इंटरसेप्ट की गई है जिसमें इस समारोह के दौरान ड्रोन से सुरक्षा भेदने की योजना बनाई जा रही है।
वबीं आईएसआईएस का भी एक खतरा बढ़ गया है।

खूफिया विभाग ने एसपीजी और एंटी टेरर यूनिट को इस तरह के खतरे को लेकर अगाह किया है साथ ही लोन वोल्फ अटैक (एक तरह का आत्मघाती हमला) की भी आशंका जताई गई है।