कुवैत में बंधक बना उत्तराखंड का युवक, वीडियो के जरिए बयान की उत्पीड़न की दास्तान

दुबड़ी का बलबीर सिंह दो जून की रोटी कमाने के लिए नौकरी के सिलसिले में कुवैत गया था। कुवैत में एक होटल में नौकरी करने वाले बलबीर को बंधक बना लिया गया है। बलबीर ने वीडियो के जरिए किए जा रहे उत्पीड़न की पूरा दास्तां सुनाई है। परिजनों ने बलबीर को मुक्त कराने के लिए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को चिट्ठी भेजी है। लेकिन अभी तक कोई जवाब नहीं मिला है।

टिहरी गढ़वाल के दुबड़ी गांव निवासी मीना देवी ने विदेश मंत्री को भेजे पत्र में बताया कि उसके पति बलबीर सिंह कुवैत के एक होटल में नौकरी करने के लिए एक साल के अनुबंध पर 17 मई 2011 को गए थे। होटल मालिक ने विश्वास में लेकर पासपोर्ट और वीजा अपने पास रख लिया था। अवधि पूरी होने के बाद पासपोर्ट वापस मांगा तो होटल मालिक ने स्टाफ की कमी बताकर अनुबंध को आगे बढ़ा दिया।

लगातार पांच साल होने के बाद बलबीर सिंह का वीजा और पासपोर्ट वापस नहीं किया गया है। आरोप लगाया कि उन्हें जबरन बंधक बनाने के साथ यातनाएं दी जा रही हैं। पति ने वीडियो के जरिए उत्पीड़न की पूरी कहानी बयां की है। यह वीडियो भी विदेश मंत्री को भेजा गया है।