प्रधानमंत्री पर निशाना साधते हुए राहुल बोले ‘अरहर मोदी, अरहर मोदी’

दाल की कीमतों को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आज उन पर लोकसभा चुनाव के दौरान किये गये महंगाई कम करने के वादे को पूरा नहीं करने का आरोप लगाया।

राहुल ने कहा कि मोदी ने चुनाव के दौरान लोगों से कहा था कि वे उन्हें प्रधानमंत्री नहीं बल्कि चौकीदार बनायें लेकिन आज उनकी नाक के नीचे दाल की चोरी हो रही है और वे इस पर एक शब्द नहीं कह रहे हैं।

उन्होंने ‘हर हर मोदी , घर घर मोदी’ के नारे का परोक्ष जिक्र करते हुए कटाक्ष किया और कहा, ‘ आज गांव गांव, कस्बे कस्बे में एक नारा चल रहा है। और वह नारा है ‘अरहर मोदी, अरहर मोदी।’ वित्त मंत्री अरुण जेटली ने चर्चा के दौरान हस्तक्षेप करते हुए कहा कि मोदी सरकार को पूर्ववर्ती संप्रग सरकार से दोहरे अंकों वाली मुद्रास्फीति विरासत में मिली थी और संप्रग सरकार नीतिगत पंगुता और घोटालों से प्रभावित थी।

वहीं, बढ़ती महंगाई पर केंद्र की एनडीए सरकार को कठघरे में खड़ा करने का प्रयास करते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने सवाल किया, ‘मोदी जी सदन को वह तारीख बता दीजिए जब दाल-सब्जी की कीमतें कम होंगी।’ राहुल गांधी ने कहा, ‘आप स्टार्ट अप, स्टैंड अप, चाहे जो मर्जी शुरू कीजिए़… जितने मर्जी खोखले वादे कीजिए, लेकिन सदन को एक ऐसी तारीख बता दीजिए जब दाल के दाम कम हो जाएंगे… टमाटर के दाम कम हो जाएंगे।’

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा, ‘मैं प्रधानमंत्री जी को उनके एक वादे के बारे में याद दिलाना चाहता हूं, जिसे वह भूल गए हैं। 16 फरवरी 2014 को हिमाचल प्रदेश के खूबसूरत पहाड़ों के बीच उन्होंने कहा था, ‘देश के सामने महंगाई एक बड़ी समस्या है.. गरीब के घर चूल्हा नहीं जलता.. मां-बच्चे रात रात भर रोते हैं और आंसू पीकर सोते हैं।’

उन्होंने प्रधानमंत्री के भाषण का उल्लेख करते हुए कहा कि नरेन्द्र मोदी ने 2014 में कहा था कि भाजपा सत्ता में आयी तो महंगाई को रोकेंगे।

राहुल गांधी ने कहा कि दो महीने पहले एनडीए सरकार ने सत्ता में दो साल पूरे होने का जश्न मनाया। मुंबई से बॉलीवुड सितारों को बुलाया गया। इस समारोह में प्रधानमंत्री ने स्वच्छ भारत के बारे में बोला, मेक इन इंडिया के बारे में बोला लेकिन पूरे समारोह में इस बारे में एक शब्द नहीं बोला कि महंगाई कब कम होगी। उन्होंने एक शब्द नहीं कहा कि दाल, आलू, टमाटर के दाम कब कम होंगे।

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि देश की जनता के सामने महंगाई सबसे बड़ा मुद्दा है और प्रधानमंत्री ने इसके बारे में एक शब्द नहीं कहा।

राहुल गांधी ने आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा कि मई 2014 में टमाटर की कीमत 18 रूपये थी जो आज 55 रुपये में बिक रहा है। इसी प्रकार उस समय चना दाल 50 रुपये किलो थी और आज यह 110 रुपये की बिक रही है।

उन्होंने कहा कि उस समय किसान को मिलने वाले उसकी फसल के दाम और बाजार से उसकी खरीद में 25 रुपये का अंतर था लेकिन आज यह अंतर बहुत अधिक बढ़ गया है।