सीरिया : कुर्द बहुल शहर में ISIS के बम हमले में 44 लोगों की मौत

कामिशली (सीरिया)।… सीरिया के कुर्द बहुल कामिशली शहर में बुधवार को हुए एक जबरदस्त बम विस्फोट में कम से कम 44 लोगों की मौत हो गई और दर्जनों लोग घायल हो गए। इस्लामिक स्टेट (ISIS) ने हमले का दावा किया है।

मार्च 2011 में सीरिया में संघर्ष की शुरुआत के बाद से यह इस शहर पर सबसे बड़ा और सबसे घातक हमला था। सीरिया के सरकारी मीडिया के अनुसार इस हमले में 44 लोगों की मौत हो गई और 140 लोग घायल हो गए। बम हमले का निशाना शहर के पश्चिमी इलाके को बनाया गया जहां स्थानीय कुर्द सरकार के अनेक मंत्रालय स्थित हैं।

ब्रिटेन आधारित ‘सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्युमन राइट्स’ ने कहा है कि इस हमले में कुल 48 लोगों की मौत हुई है। मृतकों में बच्चे और महिलाएं शामिल हैं। कुर्द अधिकारियों ने बताया कि हमला विस्फोटकों से लदा ट्रक चला रहे एक आत्मघाती हमलावर ने किया।

शुरू में इसे दोहरा बम हमला बताया गया था, लेकिन स्थानीय अधिकारियों और सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्युमन राइट्स ने कहा कि बम के चलते नजदीक के एक ईंधन कंटेनर में विस्फोट हो गया था जिसे रिपोर्टों में दूसरा विस्फोट बताया गया।

एएफपी के एक पत्रकार ने इस दर्दनाक मंजर का जिक्र करते हुए बताया विस्फोट के कारण जली हुई कारों के ढांचे बिखरे थे जिनके बीच दहशतजदा लोगों चकरा और लड़खड़ा रहे थे। उनमें से कुछ खून में लथपथ थे।

syria-suicide-bombing

पत्रकार ने बताया कि एक शख्स सड़क के किनारे बेतहाशा भागा जा रहा था। वह खून से पूरी तरह सरोबार था। उसकी शर्ट खून से सुर्ख हो चुकी थी। इस शख्स ने एक नन्हें बच्चे की बाजू थाम रखी थी जिसका चेहरा खून और गुबार से सुर्ख और भूरा हो गया था। उसने बताया कि वे भागते हुए एक बदहवास औरत के पास से गुजरे जो रो रही थी और चिल्ला रही थी। उसके कपड़े फटे थे। उसके बगल में एक लड़की और एक लड़का खड़े थे – खामोश और भावशून्य। वे इस घटना से स्तब्ध थे।

राख और मलबे के बीच अब भी यहां वहां आग बिखरी थी। शोले भड़क रहे थे और धुंआ उठ रहा था। बच्चे रो रहे थे। उनकी सिसकियां सुनी जा सकती थी। इस बीच, कंधे पर बंदूक लादे असैन्य और स्थानीय सुरक्षा बल के लोग क्षतिग्रस्त एवं तबाह हो चुकी इमारतों से मृतकों और घायलों को निकाल रहे थे।

इस्लामिक इस्टेट ने सोशल मीडिया पर जारी एक बयान में इस हमले की जिम्मेदारी ली है। उसने इसे सीरिया के अलेप्पो प्रांत में अपने गढ़ मानबिज शहर पर ‘धर्मयुद्ध चला रहे गठबंधन विमान के अपराध का जवाब’ करार दिया।

उल्लेखनीय है कि सीरिया और इराक में आईएस के खिलाफ अमेरिकी नेतृत्व वाले गठबंधन के हवाई हमलों में कुर्द लड़ाके प्रमुख भूमिका निभा रहे हैं।