पीएम मोदी मेरी हत्या तक करवा सकते हैं : अरविंद केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आम आदमी पार्टी (AAP) से इतने डरे हुए हैं कि वे उनकी (केजरीवाल) हत्या तक करवा सकते हैं। अपनी पार्टी के स्वयंसेवकों, मंत्रियों तथा विधायकों से की गई सार्वजनिक अपील में केजरीवाल ने कहा कि आप इस समय संकट के दौर से गुजर रही है तथा हालात आगे निश्चित तौर पर बदतर ही होंगे।

पीएम मोदी पर गुस्से में काम करने और AAP के दमन का आरोप लगाते हुए केजरीवाल ने कहा, ‘वे हमें मरवा सकते हैं। वे मेरी हत्या करवा सकते हैं।’ उन्होंने कहा, ‘मैं सभी विधायकों से कह रहा हूं कि कुछ भी हो सकता है।’

केजरीवाल ने आप विधायकों को इन हालात की चर्चा अपने परिजनों के साथ करने का सुझाव दिया और कहा, ‘अगर आप तैयार हैं, तो मेरे साथ रहकर काम करें। अगर कोई संदेह हो, तो आप अभी से हमें छोड़कर जा सकते हैं।’

आप नेता के मुताबिक पीएम मोदी उनकी पार्टी के खिलाफ तमाम सरकारी हथकंडे अपना रहे हैं, क्योंकि वह इसे ऐसे समय में तोड़ डालना चाहते हैं, जब यह पंजाब, गोवा तथा गुजरात में अपने पांव पसार रही है।

पीएम मोदी पर अपने दुश्मनों का दमन करने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि कोई अन्य पार्टी मोदी सरकार के खिलाफ आवाज उठाने में सक्षम नहीं है।

केजरीवाल ने कहा, ‘आप के खिलाफ कोई कोर-कसर नहीं छोड़ी गई है। लेकिन वे हमारे साहस का दमन करने में सक्षम नहीं हैं। हमने समर्पण करने से इनकार कर दिया है। यही कारण है कि वे गुस्से में हैं और तनावग्रस्त हैं।’

उल्लेखनीय है कि फरवरी 2015 में दिल्ली विधानसभा चुनाव जीतने के बाद से ही केजरीवाल के नेतृत्व वाली दिल्ली सरकार, केंद्र में मोदी सरकार के साथ वाकयुद्ध में उलझी है, खासकर शासन व अधिकार क्षेत्र के मुद्दे को लेकर।

हालिया महीनों में विभिन्न आरोपों में आप के 10 विधायकों की गिरफ्तारी के बाद दोनों दलों के बीच तनाव चरम पर पहुंच गया है। गिरफ्तार किए गए इन 10 आप विधायकों में से एक विधायक को छोड़कर बाकी सभी को अदालतों ने छोड़ दिया है।

आयकर विभाग ने बुधवार को दिल्ली से एक अन्य आप विधायक के आवास पर छापेमारी की। आप ने कहा कि आप के सांसद भगवंत मान को अयोग्य ठहराने के लिए कदम उठाए गए हैं। केजरीवाल ने एक वीडियो संदेश जारी कर सवालिया लहजे में कहा, ‘यह सब क्यों हो रहा है?’

उन्होंने कहा कि इस प्रश्न पर सभी अपने-अपने तरीके से तर्क दे रहे हैं। कुछ का तर्क है कि आप सरकार की तुलना में मोदी सरकार चुनाव पूर्व किए गए वादों को पूरा करने में नाकाम रही है। उन्होंने कहा, ‘लोगों का कहना है कि मोदी हमसे (आप) बेहद नाराज हैं। वे तर्कपूर्ण तरीके से नहीं सोच रहे हैं।’

केजरीवाल ने कहा, ‘जब एक नेता तर्कसंगत तरीके से नहीं सोचता है, तो देश को खतरा है। यह निश्चित तौर पर चिंतित करने वाला है।’ केजरीवाल ने नेपाल के साथ खराब हुए संबंधों का संदर्भ दिया और बताया कि किस प्रकार भारत के संबंध पाकिस्तान के साथ बिगड़ रहे हैं।

उन्होंने कहा, ‘अगर प्रधानमंत्री इसी तरह से फैसले लेते रहे..अगर यह उनकी आदत बन गई है, तो क्या यह देश सुरक्षित हाथों में है।’