रुद्रप्रयाग में मंदाकिनी नदी में बहने से युवक की मौत, उत्तरकाशी में तीन मकान बहे

उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले में बुधवार को एक युवक के उफनाई मंदाकिनी नदी में बहने से उसकी मृत्यु हो गई। वहीं उत्तरकाशी के बडकोट क्षेत्र में तड़के हुई भारी बारिश में तीन मकान बह गए, जबकि राज्य के कई हिस्सों में बुधवार को भी रुक-रुककर हल्की से मध्यम बारिश हुई।

बारिश के कारण पहाडों से गिरे पत्थरों और मलबे से राष्ट्रीय राजमार्गों सहित कई मार्ग भी अवरूद्ध हो गए हैं, जिससे चारधाम यात्रा भी प्रभावित हुई है। उधर मौसम विभाग ने भी उत्तराखंड के कई जिलों में अगले 24 घंटों के दौरान कुछेक स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश की भविष्यवाणी की है।

देहरादून में राज्य आपातकालीन परिचालन केंद्र से मिली जानकारी के अनुसार, दोपहर करीब एक बजे रुद्रप्रयाग जिले के उखीमठ क्षेत्र के अगस्त्यमुनि में चंद्रापुरी कस्बे के समीप स्थित नैलकुंड गांव में एक युवक का पैर फिसल गया, जिससे वह बारिश से उफनायी मंदाकिनी नदी में गिरकर बह गया। युवक मनोज (25) को ढूंढने के लिए तलाशी अभियान चलाया गया।

वहीं, उत्तरकाशी जिले के पालीगाड़ क्षेत्र में तड़के अत्यधिक बारिश से तीन मकान ढ़ह गए और कुछ कृषि भूमि में कटाव हो गया, जबकि विद्युत और पेयजल की लाइनें भी ध्वस्त हो गईं।

river-flood

बारिश के कारण पहाडों से गिरे मलबे के कारण राज्य के कई मार्ग अवरुद्ध है। ऋषिकेश-गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 108 उत्तरकाशी जिले के हेल्गूगाड, गंगनानी और नालपानी के समीप बंद है, जबकि ऋषिकेश-यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 94 उत्तरकाशी में फेड़ी के पास मलबा आने से यातायात के लिए अवरूद्ध है। सीमा सडक संगठन (बीआरओ) के जवान इन मार्गों को खोलने के काम में लगे हैं।

इसके अलावा, ऋषिकेश-केदारनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 109 रुप्रयाग जिले के गंगतल में मलबा आने से बंद है जिसे खोलने की कोशिश की जा रही है।

इस बीच, यहां स्थित मौसम केंद्र ने यहां जारी अपने पूर्वानुमान में अगले 24 घंटों के दौरान उत्तराखंड में कुछेक स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश की चेतावनी जारी करते हुए अलर्ट रहने को कहा है।