सोनिया गांधी से अनुमति मिलते ही हो जाएगा मंत्रिमंडल विस्तार : हरीश रावत

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने बुधवार को कहा कि उनके मंत्रिमंडल का विस्तार कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की अनुमति मिलने के बाद ही किया जाएगा।

अस्थायी राजधानी देहरादून में एक संवाददाता सम्मेलन में इस संबंध में पूछे जाने पर मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि वह मंगलवार को नई दिल्ली में सोनिया के बुलावे पर उनसे मिले थे। उन्होंने कहा कि इस दौरान उन्होंने राज्य की पूरी जानकारी पार्टी अध्यक्ष के समक्ष रखी।

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘मैंने उन्हें बता दिया है कि मैं मंत्रिमंडल के विस्तार के लिए तैयार हूं और जब आप अनुमति देंगी, यह कर लिया जाएगा।’ गौरतलब है कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने पिछले दिनों कहा था कि अगले साल की शुरुआत में होने वाले विधानसभा चुनावों के मद्देनजर इस कवायद को अब और नहीं टाला जाना चाहिए।

उपाध्याय ने मुख्यमंत्री को यह भी सुझाव दिया था कि विनियोग विधेयक पारित कराने के लिए 21 और 22 जुलाई को बुलाए गए विधानसभा के विशेष सत्र के फौरन बाद मंत्रिमंडल विस्तार कर दिया जाना चाहिए और इसके लिए उन्होंने 23 जुलाई की तिथि को उपयुक्त बताया था।

फिलहाल राज्य मंत्रिमंडल में मुख्यमंत्री रावत को छोडकर नौ मंत्री हैं और सभी को कैबिनेट मंत्री का दर्जा मिला हुआ है। मंत्रिमंडल में दो मंत्रिपद खाली हैं।

पिछले साल फरवरी में तत्कालीन समाज कल्याण मंत्री सुरेंद्र राकेश की बीमारी के चलते हुई मृत्यु से मंत्रिमंडल में एक स्थान रिक्त हो गया था, जबकि इस साल मार्च में तत्कालीन कृषि मंत्री हरक सिंह रावत के नौ अन्य कांग्रेस विधायकों के साथ सरकार से बगावत करने के कारण मंत्रिमंडल में एक और जगह खाली हो गई।