औरंगाबाद हथियार केस: लश्कर आतंकी अबु जुंदाल सहित 12 दोषी करार

महाराष्ट्र की विशेष मकोका अदालत ने औरंगाबाद हाईवे पर हथियार बरामदगी मामले में लश्कर-ए-तैयबा के आतंकवादी अबु जुंदाल को दोषी करार दिया है।

इस मामले में अदालत ने आतंकवादी अबु जुंदाल सहित 12 लोगों को दोषी ठहराया और 10 लोगों को बरी कर दिया है। सैयद जैबुद्दीन अंसारी उर्फ अबु जुंदाल लश्कर-ए-तैयबा का आतंकवादी है और वह मुंबई हमलों के मुख्य आरोपियों में से एक है।

अदालत का कहना है कि इन दोषियों ने गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी और विश्व हिंदू परिषद के नेता प्रवीण तोगड़िया के खिलाफ हमले की साजिश रची थी।

दरअसल, 8 मई, 2006 को महाराष्ट्र एटीएस की टीम ने औरंगाबाद के पास हाईवे पर टाटा सूमो और इंडिका कार का पीछा करके तीन संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया था। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए एक कार को रोका था, पर दूसरी कार वहां से फरार हो गई थी।

उनके पास से पुलिस ने 30 किलोग्राम आरडीएक्स, 10 AK-47 राइफलें और 3200 कारतूस बरामद किए थे। उस वक्त, इंडिका कार कथित रूप से जुंदाल चला रहा था, लेकिन उस समय वह पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया था। बाद में इस कार को भी पुलिस ने बरामद कर लिया था।