जल्द होगा हरीश रावत कैबिनेट का विस्तार, इन दो विधायकों को मिलेगी मंत्री की कुर्सी

मुख्यमंत्री हरीश रावत के मंत्रिमंडल में खाली दो पदों को भरने के लिए नाम तय हो गए हैं। उत्तराखंड में हाल के दिनों में जैसी राजनीतिक उठापटक रही है अगर शपथ लेने तक वैसा कुछ नहीं हुआ तो बद्रीनाथ से विधायक राजेंद्र भंडारी और विकासनगर से विधायक नवप्रभात नए मंत्री होंगे।

सीएम हरीश रावत ने गढ़वाल से खाली हुए दोनों पद वहीं से भरे और ब्राह्मण-क्षत्रिय का संतुलन बिठाया है। अंदरखाने इन दोनों नामों पर आलाकमान ने भी सहमति जता दी है। दोनों ही विधायक मंगलवार को दिल्ली में मौजूद थे।

मंत्रिमंडल में इन दोनों नामों को शामिल करने के राजनीतिक मायने भी हैं। नवप्रभात पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा के करीबी माने जाते थे और मार्च में हरीश रावत के खिलाफ बगावत के दौर में भी उन्होंने मजबूती से हरदा और कांग्रेस का हाथ थामे रखा। इसी प्रकार सतपाल महाराज के करीबी कहे जाने वाले राजेंद्र भंडारी न महाराज के पार्टी छोड़ने के समय गए और न दूसरी बार मार्च में उन्होंने पार्टी का साथ छोड़ा।

हरीश रावत पर पार्टी में क्षत्रियों की ओर झुकाव का आरोप लगता रहा है, लिहाजा राजेंद्र भंडारी के साथ ब्राह्मण नवप्रभात को मौका दिया गया है। गौरतलब है कि मंत्रिमंडल में एक सीट सहयोगी रहे सुरेंद्र राकेश के निधन और दूसरी हरक सिंह रावत के पार्टी छोड़ने से खाली हुई है।

हालांकि मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा, मंत्रिमंडल विस्तार के संबंध में राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी से विस्तृत बातचीत हुई है, उन्हें राज्य के राजनैतिक हालातों से भी अवगत कराया गया है। मंत्रिमंडल में किसे शामिल किया जाए इस संबंध में उन्होंने जल्द संकेत देने की बात कही है। फिलहाल किसी के नाम पर मुहर नहीं लगी है।