दलितों की पिटायी पर मोदी ने साधी चुप्पी, यह पद और लोकतंत्र का अवमूल्यन : कांग्रेस

कांग्रेस ने उना दलित पिटायी घटना पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुप्पी को उनके पद के साथ ही लोकतंत्र का ‘अवमूल्यन’ करार दिया है। वहीं विपक्षी दल ने घटना के विरोध में पूरे गुजरात में धरना आयोजित किया।

विधानसभा में विपक्ष के नेता शंकरसिंह वाघेला ने कहा, ‘उन्होंने (मोदी) गुजरात से वोट लिया और प्रधानमंत्री बन गए। यद्यपि उन्होंने दलितों के लिए एक भी शब्द नहीं निकाला, क्योंकि उन्हें डर है कि इससे गुजरात में बीजेपी को नुकसान होगा। यह लोकतंत्र और प्रधानमंत्री के पद का अवमूल्यन है।’

प्रदर्शन 33 जिलों में विभिन्न स्थानों पर आयोजित हुए। वहीं कांग्रेस प्रदेश इकाई अध्यक्ष भरतसिंह सोलंकी और वाघेला सहित पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने शहर में कलेक्टर कार्यालय के पास धरने में हिस्सा लिया।

कांग्रेस नेताओं ने दलित युवकों पर हमले को बीजेपी एवं राज्य सरकार की ‘दलित विरोधी मानसिकता’ करार दिया।