मणिपुर : 16 साल की भूख हड़ताल तोड़कर राजनीति में आएंगी इरोम शर्मिला, शादी भी करेंगी

मणिपुर में सशस्त्र बल विशेषाधिकार अधिनियम (आफ्स्पा) हटाने की मांग को लेकर पिछले 16 सालों से भूख हड़ताल पर बैठीं इरोम शर्मिला ने मंगलवार को भूख हड़ताल खत्म करने की घोषणा की। भूख हड़ताल खत्म करने के साथ-साथ इरोम ने राजनीति में आने और शादी करने की भी घोषणा की है। इरोम ने पश्चिमी इंफाल में मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत में यह घोषणा की।

उन्होंने कहा कि वह नौ अगस्त को अपनी भूख हड़ताल खत्म कर देंगी और मणिपुर में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों में निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर चुनाव लड़ेंगी। उन्होंने कहा कि वह विवाह करने जा रही हैं। 42 वर्ष की इरोम ने बीते 16 सालों से न कुछ खाया है और न पीया है। उन्हें नाक से जबरन आहार दिया जा रहा है।

इरोम ने नवंबर, 2000 में सुरक्षा बलों के हाथों 10 नागरिकों की मौत के बाद आफ्स्पा हटाने की मांग करते हुए भूख हड़ताल शुरू की थी। भूख हड़ताल पर बैठने के तीन दिन बाद ही उन्हें मणिपुर सरकार ने खुदकुशी की कोशिश करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया था।