जापान : चाकू से किए गए हमले में 19 की मौत, 25 घायल

सागामिहारा।… जापान में मानसिक रूप से कमजोर मरीजों के एक केंद्र में एक युवक ने चाकू से हमला कर दिया जिससे कम से कम 19 लोगों की मौत हो गई। इस हमलावर ने कुछ ही महीने पहले अपनी खूनी योजना का जिक्र करते हुए संसद को एक पत्र दिया था और कहा था कि सभी विकलांग लोगों को मौत दे देनी चाहिए।

अधिकारियों ने बताया कि 26 साल के सातोशी युएमात्सु ने करीब 150 मरीजों वाले इस केंद्र के करीब एक तिहाई मरीजों पर चाकू से वार किए। यह खूनी मंजर 40 मिनट तक चला। इसे जापान में बीते कई दशक का यह सबसे खूनी सामूहिक हत्या बताया जा रहा है। इस हमले में कुल 25 लोग घायल हुए हैं जिनमें 20 की हालत गंभीर है।

सुरक्षा कैमरे की फुटेज यहां के टेलीविजन चैनलों पर प्रसारित की गई जिसमें दिख रहा है कि यह युवक काले रंग की कार चलाता हुआ पहुंचा। उसने कई चाकू ले रखे थे। यह घटना राजधानी तोक्यो से तकरीबन 50 किलोमीटर पश्चिम में स्थित सागामिहारा इलाके के त्सुकुई यामायुरी-एन केंद्र की है।

अधिकारियों ने बताया कि यह युवक सोमवार देर रात 2.10 बजे (स्थानीय समयानुसार) पर इस केंद्र की खिड़की तोड़कर दाखिल हुआ और मरीजों के गले रेतने लगा। पुलिस के अनुसार वारदात को अंजाम देने के बाद वह बड़े आराम से बाहर निकल गया। इस केंद्र में वह 2012 से काम कर रहा था और इस साल फरवरी में उसे नौकरी से हाथ धोना पड़ा था।

जापानी मीडिया के अनुसार उसे अच्छी तरह पता था कि देर रात और भोर के समय कर्मचारियों की संख्या बहुत कम होगी। इस हमलावर की पृष्ठभूमि के बारे में बहुत ज्यादा जानकारी नहीं मिल पाई है लेकिन उसने एक बार शिक्षक बनने के सपने को जरूर बयां किया था। अपने फेसबुक अकाउंट में डाली गईं दो सामूहिक तस्वीरों में वह अन्य युवकों के साथ बहुत खुश नजर आ रहा है।