अश्विन ने बुना फिरकी का जाल, टीम इंडिया की एशिया से बाहर सबसे बड़ी जीत

एंटीगा।… ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन की करिश्माई गेंदबाजी से भारत ने वेस्टइंडीज को पहले टेस्ट क्रिकेट मैच में चौथे दिन ही पारी और 92 रन से करारी शिकस्त देकर एशिया महाद्वीप के बाहर अपनी सबसे बड़ी जीत दर्ज की। भारतीय पारी में शतक जड़ने वाले अश्विन ने 83 रन देकर सात विकेट लिए, जिससे वेस्टइंडीज की टीम फॉलोआन करते हुए दूसरी पारी 231 रन पर सिमट गई।

भारत ने इस तरह चार मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली है। भारत की यह वेस्टइंडीज की धरती पर पारी के अंतर से पहली जीत है। इससे पहले भारत ने एशिया के बाहर पारी के अंतर से उसकी सबसे बड़ी जीत जिम्बाब्वे के खिलाफ 2005 में बुलावायो में दर्ज की थी। तब उसने पारी और 90 रन से टेस्ट मैच जीता था।

भारत ने कप्तान विराट कोहली (200) के पहले दोहरे शतक और अश्विन (113) के शतक की मदद से अपनी पहली आठ विकेट पर 566 रन बनाकर समाप्त घोषित की थी। इसके बाद वेस्टइंडीज की टीम को अपनी पहली पारी 243 रन पर आउट करके उसे फॉलोआन के लिए मजबूर किया।

वेस्टइंडीज की तरफ से दूसरी पारी में कालरेस ब्रेथवेट (नाबाद 51) और मलरेन सैमुअल्स (50) ने अर्धशतक जमाए। एक समय लग रहा था कि भारत अपने इस प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ पारी के अंतर से सबसे बड़ी जीत दर्ज करने में सफल रहेगा, लेकिन कार्लोस ब्रेथवेट और देवेंद्र बिशू (45) ने नौंवें विकेट के लिए 95 रन की साझेदारी करके हार का अंतर कम कर दिया। अश्विन ने बिशू को आउट करके यह साझेदारी तोड़ी और फिर इसी ओवर में शैनोन गैब्रियल की गिल्लियां बिखेरकर भारत को जीत दिलाई। भारत की वेस्टइंडीज के खिलाफ यह कुल 17वीं और उसकी सरजमीं पर छठी जीत दर्ज है।

अश्विन एक टेस्ट मैच में दो बार शतक और पांच या अधिक विकेट लेने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बन गए हैं। इससे पहले उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ ही मुंबई में 2011 में यह कारनामा दिखाया था। तब उन्होंने 103 रन बनाने के अलावा नौ विकेट भी लिए थे। भारत की तरफ से उनसे पहले वीनू मांकड़ और पाली उमरीगर ने एक-एक बार यह उपलब्धि हासिल की थी। अश्विन ऐसे छठे क्रिकेटर हैं जिन्होंने दो या इससे अधिक बार ऐसा कारनामा किया है।

इयान बाथम ने रिकॉर्ड पांच बार मैच में शतक और पांच या उससे अधिक विकेट लिए थे। वेस्टइंडीज ने सुबह जब ब्रावो का विकेट गंवाया तब उसने अपने तीसरे दिन के स्कोर में कोई इजाफा नहीं किया था। कोहली ने यादव से गेंदबाजी का आगाज करवाया। उनकी पांचवीं गेंद ब्रावो के बल्ले का किनारा लेकर स्लिप में गई, जहां अंजिक्य रहाणे ने अपने बायीं तरफ डाइव लगाकर बड़ी खूबसूरती से उसे कैच में बदला।
इसके बाद सैमुअल्स ने कुछ खूबसूरत शॉट लगाए और चंद्रिका के साथ तीसरे विकेट के लिये 67 रन की साझेदारी की। इस बीच सैमुअल्स जब 16 रन पर थे तब मोहम्मद शमी ने विकेट के पीछे कैच की जोरदार अपील की, लेकिन तीसरे अंपायर के हिसाब से गेंद विकेटकीपर रिद्धिमान साहा के दस्तानों में पहुंचने से पहले जमीन स्पर्श कर चुकी थी।

भारत और वेस्टइंडीज के बीच खेले गए पहले टेस्ट क्रिकेट मैच के चौथे दिन का स्कोर इस प्रकार रहा

भारत पहली पारी : आठ विकेट पर 566 रन समाप्त घोषित
वेस्टइंडीज पहली पारी : 243 रन ऑल आउट
वेस्टइंडीज दूसरी पारी
क्रेग ब्रेथवेट एलबीडल्ब्यू बो इशांत 02
राजेंद्र चंद्रिका कैच साहा बो अश्विन 31
डेरेन ब्रावो कैच रहाणे बो यादव 10
मर्लोन सैमुअल्स बो अश्विन 50
जेरमाइन ब्लैकवुड कैच कोहली बो अश्विन 00
रोस्टन चेज कैच सब. राहुल बो अश्विन 08
शेन डोरिच पर बो मिश्रा 09
जैसन होल्डर बो अश्विन 16
कार्लोस ब्रेथवेट नाबाद 51
देवेंद्र बिशू कैच पुजारा बो अश्विन 45
शैनोन गैब्रियल बो अश्विन 04
अतिरिक्त 05 कुल : 78 ओवर में, सभी आउट : 231
विकेट पतन : 1-2, 2-21, 3-88, 4-92, 5-101, 6-106, 7-120, 8-132, 9-227

गेंदबाजी
इशांत 11-2-27-1
शमी 10-3-26-0
यादव 13-4-34-1
अश्विन 25-8-83-7
मिश्रा 19-3-61-1