जान जोखिम में डालकर उफनते नाले को पार करके स्कूल जाने को मजबूर हुए बच्चे

मौसम विभाग के उत्तराखंड में 36 घंटे भारी बारिश के अलर्ट के बाद चंपावत जिले के कई हिस्सों में शुक्रवार देर रात शुरू हुई बारिश शनिवार दिनभर भी जारी रही। आसमान से बरस रही आफत की बारिश के चलते स्कूली बच्चों के साथ ही जनजीवन पूरा तरह से प्रभावित हो गया।

जब की राष्ट्रीय राजमार्ग चल्थी में सड़क पर मलवा आने की सुचनाएं मिल रही हैं। खबर मिलते ही प्रशासन की टीम ने सड़क से मलवा हटाने का काम शुरू कर दिया। दूसरी ओर सीमांत टनकपुर में बह रहे किरोडा नाले से स्कूल के बच्चे जान जोख़िम में डालकर रोखड़ पार करने को मजूबर हुए।

जान जोख़िम में डालकर नदी पार करने वाले बच्चों का कहना है कि उन्हें बारिश के दौरान इसी तरह उफनती नदी पार कर जाना पड़ रहा है। साथ ही छात्रों ने सरकार से झूला पुल लगाने की गुहार भी लगाई है। वही अभिवाकों का कहना है कि पांच गांव के ग्रामीण बरसात में जरूरत का सामान इसी उफनती नदी से लाने को मजबूर हैं।