समस्याओं से घिरा है दून मेडिकल कॉलेज, अब MS टम्टा ने दी पद छोड़ने की धमकी

अस्थायी राजधानी देहरादून स्थित दून मेडिकल कॉलेज के एमएस डॉ. केके टम्टा ने चिकित्सा शिक्षा निदेशक डॉ. आशुतोष सयाना को मौखिक रूप से पद छोडऩे की धमकी दी है। शुक्रवार शाम को दोनों के बीच जमकर बहस हुई। डॉक्टर टम्टा ने बताया कि शुक्रवार को प्राचार्य डॉ. प्रदीप भारती गुप्ता ने उन्हें अधिकारियों को नोटिस जारी करने के मामले में कारण बताओ नोटिस जारी किया। उन्होंने पूछा कि किस अधिकार से उन्होंने कर्मियों को नोटिस जारी किए।

इस पर डॉ. टम्टा ने कहा कि जब उन्हें अस्पताल में किसी तरह का अधिकार ही नहीं है तो वह एमएस की कुर्सी पर रहकर क्या करेंगे? उन्होंने कहा कि वे तमाम कमियों और अभावों के बावजूद अस्पताल की व्यवस्थाओं को सुधारने की कोशिशों में जुटे हैं। अपनी जेब से खर्च कर अस्पताल के लिए सामान खरीद रहे हैं। लेकिन इसके बाद भी अस्पताल के कर्मचारी से लेकर मरीज तक अव्यवस्थाओं के लिए उन्हें दोषी ठहराते हैं।

उन्होंने कहा कि वह अपनी ओर से अस्पताल की बेहतरी के लिए कोई कसर नहीं छोड़ते। उसके बावजूद मेडिकल कॉलेज प्रबंधन और चिकित्सा शिक्षा विभाग की ओर से उन्हें कोई सहयोग नहीं मिल पा रहा है।

निदेशक चिकित्सा शिक्षा डॉ. आशुतोष सयाना ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि डॉ. टम्टा को समझाने का प्रयास किया जाएगा। वहीं डॉ. टम्टा का कहना है कि शनिवार को वह चिकित्साधीक्षक पद से इस्तीफा देकर अपने मूल विभाग में लौट जाएंगे।