विशेष सत्र के दूसरे दिन भी विपक्ष ने किया कार्यवाही का बहिष्कार, विधानसभा के बाहर धरने पर बैठे

उत्तराखंड विधानसभा के दो दिवसीय विशेष सत्र के दूसरे दिन भी विपक्ष सदन से गैरहाजिर रहा। एक तरफ जहां सदन में अंदर कार्यवाही चलती रही, वही दूसरी तरफ पूरा विपक्ष बाहर विधानसभा परिसर में धरने पर बैठ गया।

सरकार की कोशिश है कि सभी बचे हुए सातों विधेयक शुक्रवार को पास करा लिए जाएं। गौरतलब है कि इस सत्र में कुल 10 विधेयक पेश किए जाने थे। विनियोग विधेयक सहित तीन विधेयक गुरुवार को सत्र के पहले दिन पास करा लिए गए थे।

विशेष सत्र के दूसरे दिन भी विपक्ष का कोई भी विधायक सदन में नहीं पहुंचा। विधानसभा परिसर में ही विपक्ष के विधायक मुंह पर काली पट्टी बांधकर धरने पर बैठे गए।

पहले दिन विपक्ष ने स्पीकर को हटाने के लिए पूर्व में दिए गए अविश्वास प्रस्ताव का मुद्दा उठाया। इसके बाद हंगामे को देखते हुए स्पीकर गोविंद सिंह कुंजवाल ने अध्यक्ष की कुर्सी छोड़ दी। इसके बाद विकासनगर से कांग्रेस विधायक नवप्रभात को प्रोटेम स्पीकर बनाया गया था।

इसके बाद विपक्ष का अविश्वास प्रस्ताव ध्वनि मत से गिर गया और कुंजवाल फिर से स्पीकर की भूमिका में आ गए। भोजनावकाश के बाद सदन में विपक्ष की गैरमौजूदगी में बजट पारित हो गया।