उत्तरकाशी : पटाल से मां की गर्दन काटने वाले कलयुगी बेटे को उम्रकैद

उत्तरकाशी के जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने निर्मम हत्या के एक मामले की सुनवाई करते हुए मां के हत्यारे बेटे को ऐसी सजा सुनाई है कि वह अब जिंदगी अफसोस करता रहेगा। मामला बडकोट थाना क्षेत्र के पोलगांव का है।

गौरतलब है कि 13 अप्रैल 2015 को छानियों में रह रहे गणेश प्रसाद जगुड़ी (32 वर्ष) अपनी मां सावित्री देवी (62 वर्ष) से शराब पीने के लिए पैसे मांग रहा था। सावित्री देवी ने पैसे देने से इनकार किया तो गणेश ने गुस्से मे आकर पठाल (घर की छत पर लगने वाला पत्थर) से अपनी मां की गर्दन काट दी। जिससे सावित्री की मौके पर ही मौत हो गई थी।

पास की छानियों में रह रही गांव की गायत्री देवी व निर्मला देवी ने इस घटना की सूचना ग्राम प्रहरी गणपति को दी। गणपति की सूचना पर बड़कोट पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर गणेश को भी हिरासत में ले लिया। गणेश की निशानदेही पर पुलिस ने पाटल व खून से रंगे कपड़ों को कब्जे में लिया।

जिला शासकीय अधिवक्ता हुकम सिंह रावत ने इस मामले में अभियोजन पक्ष की ओर से गायत्री देवी, निर्मला देवी, गणेश की पत्नी ममता सहित कुल 11 गवाह पेश किए। दोनों पक्षों को सुनने के बाद न्यायधीश जीएस धर्मसक्तु की अदालत ने आरोपी गणेश को हत्या के मामले दोषी मानते हुए उम्र कैद की सजा सुनाई। गणेश पर पचास हजार रुपये आर्थिकदंड का भी आदेश जारी किया गया है।