अयोध्या में राममंदिर बनवाए सरकार, कोर्ट ने भी विवादित भूमि को श्रीराम जन्मभूमि माना : शंकराचार्य

ज्योतिष एवं द्वारका-शारदा पीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरुपानंद सरस्वती ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण पर केंद्र सरकार को आड़े हाथ लिया है। उन्होंने आरोप लगाया कि इस मामले में केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह का बयान मुद्दों से भटकाने वाला है।

शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने हरिद्वार के कनखल स्थित शंकराचार्य मठ में पत्रकारों से बातचीत में दावा किया कि इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अयोध्या में विवादित भूमि को श्रीरामजन्म भूमि माना है। ऐसे में दूसरे पक्ष का दावा स्वत: ही निरस्त हो गया है।

फिर केंद्र सरकार के सामने वहां राममंदिर निर्माण में कोई अड़चन नहीं है। बीजेपी अब मंदिर निर्माण के वादे से पीछे हट रही है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार पूर्ण बहुमत में है, उसके पास समस्त शक्तियां हैं। बावजूद इसके केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह अयोध्या में राममंदिर निर्माण के मामले में राज्यसभा में बहुमत न होने और धर्मनिरपेक्ष सरकार का तर्क देकर खुद को बचाने की कोशिश कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि देश पर ISIS का खतरा मंडरा रहा है। ऐसे में केंद्र सरकार को सख्त कदम उठाने होंगे, ताकि देश को आतंकी गतिविधियों से सुरक्षित रखा जा सके।