JNU ने कन्हैया, उमर, अनिर्बान व 18 अन्य का रजिस्ट्रेशन रोका

विश्वविद्यालय परिसर में नौ फरवरी को हुए विवादित आयोजन से जुड़े छात्रों से संबंधित एक नये घटनाक्रम में जेएनयू प्रशासन ने अगले सेमेस्टर के लिए उनके रजिस्ट्रेशन पर रोक लगा दी।

21 छात्रों की इस सूची में जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार, उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य के नाम शामिल हैं। तीनों को कार्यक्रम को लेकर देशद्रोह के आरोपों के तहत गिरफ्तार किया गया था और बाद में जमानत पर रिहा कर दिया गया।

संसद पर हमले के दोषी अफजल गुरु की बरसी के उपलक्ष्य में आयोजित किए गए कार्यक्रम के दौरान कथित रूप से देश विरोधी नारेबाजी की गई थी। छात्रों के नाम वाले सर्कुलर पर जेएनयू के रजिस्ट्रार की टिप्पणी अंकित है।

इसमें कहा गया, ‘अगले नोटिस तक इन छात्रों का रजिस्ट्रेशन रोका जाता है।’ जहां विश्वविद्यालय प्रशासन ने घटनाक्रम को लेकर कुछ नहीं कहा, वहीं प्रभावित छात्रों ने अदालत के आदेश का उल्लंघन बताते हुए इसका विरोध किया।

फैसले से प्रभावित होने वाले छात्र आशुतोष ने कहा, ‘यह हाईकोर्ट के आदेश का उल्लंघन है जिसने विश्वविद्यालय को हमारे खिलाफ कार्रवाई करने से रोका हुआ है।’