हरिद्वार : कांवड़ियों के भेष में आए बदमाश, दिनदहाड़े डकैती डालकर मचाया हड़कंप

धार्मिक नगरी हरिद्वार में अपराध थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। अभी भेल के सीनियर डीजीएम के घर हुई लाखों की डकैती का पुलिस खुलासा भी नहीं पाई थी कि बुधवार को कोतवाली ज्वालापुर क्षेत्र में कावड़ियों के भेष में आए हथियारबंद डकैतों ने एक बुज़ुर्ग दंपत्ति को घायल कर दिनदहाड़े डकैती की वारदात को अंजाम दे दिया। पुलिस के शर्मनाक बात यह है कि डकैती उस समय पड़ी है जब हरिद्वार में कांवड़ के चलते जगह-जगह भारी संख्या में पुलिस बल तैनात है।

कोतवाली ज्वालापुर क्षेत्र के हरिलोक कॉलोनी में बुधवार दोपहर अज्ञात डकैतों ने केदार सिंह यादव के घर घुस उन्हें और उनकी पत्नी को बंधक बनाकर डकैती की वारदात को अंजाम दिया। डकैत इतने बेख़ौफ़ थे कि उन्होंने विरोध करने पर केदार के सिर पर न केवल वार किए, बल्कि उनको चाक़ू मारकर गंभीर रूप से घायल भी कर दिया। लेकिन केदार के विरोध करने पर वे कुछ ही सामान लूट कर फरार हो गए।

पीड़ित महिला का कहना है कि आरोपी मुंह पर टेप लगा रहे थे। डकैतों के पास चाकू और तमंचा था। महिला का कहना है की हल्ला सुनकर आई तो उसके कुंडल भी लूट लिए गए।

पुलिस इस मामले को डकैती मानने से इनकार कर रही है। सीओ सदर जेपी जुयाल का कहना है कि कांवड़ियों के भेष में 4 बदमाशों ने केदार के ऊपर हमला कर दिया। पुलिस धारदार हथियार से हमला होने से इनकार कर रही है, जबकि केदार के शरीर पर घाव साफ़ नज़र आ रहे हैं। अब पुलिस आरोपियों की की जल्द गिरफ़्तारी की बात कर रही है।

बुधवार को हुई इस लूट को लेकर ज्वालापुर पुलिस मामले की लीपापोती में लग गई है। जबकि केदार के सिर और पेट पर लगे घाव ये बताने के लिए काफी हैं कि मामला कितना बड़ा है। फ़िलहाल पुलिस सीसीटीवी कैमरों को खंगाल कर अपराधियों को पकड़ने की बात कर रही है, लेकिन देखने वाली बात ये होगी कि वो आरोपियों को और कब तक पकड़ पाती है।