जम्मू एवं कश्मीर में समस्याओं का एकमात्र कारण पाकिस्तान : अरुण जेटली

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने सोमवार को कांग्रेस के इस आरोप का खंडन किया कि स्थिति से निपटने में बीजेपी-पीडीपी गठबंधन सरकार की विफलता के कारण कश्मीर अशांत है। जेटली ने पाकिस्तान पर आरोप लगाया और वहां की समस्याओं के लिए उसे एकमात्र कारण बताया।

राज्यसभा में कश्मीर की स्थिति पर बहस के दौरान जेटली ने यह बात कही। उन्होंने कहा कि यह सोचना सही नहीं है कि जम्मू एवं कश्मीर में पीडीपी-बीजेपी सरकार गठबंधन की सरकार है और इस वजह से वहां समस्याएं हैं।

वित्त मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान ने इस तथ्य को कभी स्वीकार नहीं किया कि जम्मू एवं कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है। इसलिए वह लगातार अशांति फैलाने का प्रयास करता है। उन्होंने कहा कि राज्य में अशांति का यही एकमात्र कारण है।

उन्होंने सहमति जताई कि सुरक्षा बलों के हाथों बुरहान वानी के मारे जाने से पहले घाटी में अच्छी स्थिति थी। वित्त मंत्री ने कहा कि यह सोचना गलत होगा कि किसी अन्य कारण से स्थिति बिगड़ी है। इसकी वजह पाकिस्तान द्वारा जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवाद का समर्थन है।

उन्होंने कहा कि भारत के साथ पारंपरिक लड़ाइयां लड़ने के बाद पाकिस्तान को महसूस हुआ कि इनके जरिए भारत को हराना असंभव है, इसलिए उसने आतंकवाद की रणनीति अपनाई है।

इस मुद्दे पर सदन में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद के प्रश्नों का जवाब देते हुए जेटली ने कहा कि जम्मू एवं कश्मीर के मुद्दे पर टेलीविजन पर हो रही बहसें या कोई अन्य चीज वहां अशांति नहीं फैला रहीं हैं। उन्होंने कहा, ‘यह पाकिस्तान है जो समस्या उत्पन्न कर रहा है।’

उन्होंने अलगाववादियों और आतंकवादियों के खिलाफ सुरक्षा बलों की कार्रवाई का समर्थन किया। जेटली ने कहा कि कोई भी संप्रभु देश अपने सुरक्षा बलों और हितों पर हमले की अनुमति नहीं दे सकता है।

हालांकि, उन्होंने माना कि अत्याधिक बल प्रयोग से परहेज करना चाहिए।