अब पड़ोसी देश चीन ने भी कश्मीर की ताजा स्थिति पर ‘चिंता’ जताई

भारत में नाराजगी पैदा करने वाले बयान में चीन ने सोमवार को कहा कि वह कश्मीर में झड़पों में लोगों के मारे के जाने से चिंतित है और वह उम्मीद करता है कि सरकार हालात को ‘सही ढंग से संभालेंगी’ और ‘संबंधित पक्ष’ बातचीत के जरिए शांतिपूर्ण ढंग से मुद्दे का निवारण करेंगे।

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने कहा, ‘चीन ने संबंधित खबरों का संज्ञान लिया है। हम झड़पों में लोगों के हताहत होने को लेकर समान रूप से चिंतित हैं तथा उम्मीद करते हैं कि इस घटना को सही ढंग से संभाला जाएगा।’

उन्होंने कहा, ‘कश्मीर का मुद्दा इतिहास से जुड़ा है। चीन का निरंतर एक ही रुख बना हुआ है। चीन आशा करता है कि संबंधित पक्ष शांतिपूर्ण ढंग से इस मुद्दे का समाधान निकालेंगे।’ लू का बयान जानकारों के लिए हैरान करने वाला है, क्योंकि जम्मू-कश्मीर में किसी भी घटनाक्रम पर चीन विरले ही टिप्पणी करता है।

बीते आठ जुलाई को हिज्बुल मुजाहिदीन के आतंकवादी बुरहान वानी के मारे जाने के बाद घाटी में प्रदर्शनकारियों और सुरक्षा बलों के बीच हिंसक झड़पें हुई थी। हिंसा में 39 लोगों की मौत हुई है।