हमारे पड़ोसी का सिर्फ नाम ही ‘पाक’ है, हरकतें ‘नापाक’ : राजनाथ सिंह

भारत में आतंकवाद और अलगाववाद का समर्थन करने पर पाकिस्तान को लताड़ते हुए केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को कहा कि जम्मू और कश्मीर में आज जो कुछ हो रहा है उसका जिम्मेदार पड़ोसी देश है। राजनाथ सिंह ने सोमवार को राज्यसभा में कश्मीर मुद्दे पर हुई चर्चा के जवाब में कहा, ‘कहने को नाम पाकिस्तान है, लेकिन हरकतें नापाक।’

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान अपने काम से मतलब रखे, क्योंकि भारत अपने अंदरूनी मामलों से निपटने में सक्षम है। राजनाथ सिंह ने कहा कि बुरहान वानी आतंकवादी था, जिसकी कई मामलों में संलिप्तता रही है और भारत में उसके खिलाफ 17 एफआईआर दर्ज हैं।

उन्होंने कहा कि वानी कश्मीर में युवकों को बंदूक उठाने और देशहित के खिलाफ काम करने के लिए उकसाता था। राजनाथ सिंह ने कश्मीर की मौजूदा स्थिति को ‘दुर्भाग्यपूर्ण’ बताया और कहा कि राज्य में हालात सामान्य बनाने के लिए हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं।

उन्होंने कहा, ‘मैं लगातार जम्मू एवं कश्मीर की मुख्यमंत्री के संपर्क में हूं। हम दिन में कम से कम दो बार स्थिति पर चर्चा करते हैं। मैं सुरक्षा बल प्रमुखों के संपर्क में भी हूं।’

उन्होंने कहा कि कश्मीर में सुरक्षा बलों को अधिकतम संयम बरतने और अन्य कोई विकल्प न बचे होने की दशा में ही बल प्रयोग करने के लिए कहा गया है।

गृह मंत्री ने स्पष्ट तौर पर कहा कि सुरक्षा बल आतंकवादियों के खिलाफ लड़ाई जारी रखेंगे, लेकिन राह भटक गए युवकों को मुख्यधारा में शामिल करने के प्रयास किए जाएंगे, क्योंकि ‘वे अपने ही हैं’। उन्होंने कहा कि वह जल्द ही जम्मू एवं कश्मीर का दौरा करेंगे और वहां आम नागरिकों के साथ बातचीत शुरू करने की पहल करेंगे।

आठ जुलाई को हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी की सुरक्षा बलों के हाथों मौत के बाद से कश्मीर घाटी में हिंसक विरोध-प्रदर्शन भड़क उठे हैं।

वानी की मौत के बाद से अब तक हिंसक झड़पों में मरने वालों और घायलों का विवरण देते हुए गृह मंत्री ने बताया कि 43 लोगों की मौत हो चुकी है और 1,948 लोग घायल हुए हैं। इसके अलावा एक सुरक्षाकर्मी की मौत हुई है और 1671 सुरक्षाकर्मी घायल हुए हैं।