लोगों की भावनाओं के अनुरूप गैरसैंण घोषित हो स्थायी राजधानी : कुंजवाल

विधानसभा अध्यक्ष गोविन्द सिंह कुंजवाल ने 21 और 22 जुलाई को होने वाले विशेष विधानसभा सत्र की सभी तैयारियां पूरी होने का दावा किया है। हल्द्वानी में एक टीवी चैनल से बात करते हुए उन्होंने बताया है कि मंगलवार को सत्र से पहले होने वाली सर्वदलीय बैठक बुलाई गई है। इसके आलावा सुरक्षा के साथ अन्य कई महव्वपूर्ण बैठक भी आमंत्रित की गई है।

होने वाले सत्र में 18 मार्च को पेश किए बजट को पुन: प्रस्तुत किया जाएगा और उसे पास किया जाएगा। वहीं गैरसैंण में बने विधानसभा भवन को लेकर स्पीकर ने सरकार की मंशा पर भी सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने कहा है कि अभी तक वहां पर 100 करोड़ रुपये खर्च हो गए हैं, जबकि अभी 50 करोड़ रुपये से अधिक की धनराशि और खर्च होनी है।

उन्होंने बहुत ही स्पष्ट लहजे में कहा है कि पर्वतीय मूल के लोगों की भावना के अनुरूप गैरसैंण को स्थायी राजधानी घोषित किया जाना चाहिए। सरकार के साथ अन्य राजनैतिक दलों से स्पीकर ने अनुरोध किया है कि सब लोग तय करें कि कहां पर स्थायी राजधानी बननी चाहिए।

जहां तय हो वहीं पर विकास कार्य किए जाएं, नहीं तो अन्य स्थानों पर हो रहे विकास कार्यों की वजह से लोगों में तरह-तरह की शंकाएं जन्म ले रही हैं। सरकार को इस तरह की शंकाओं को दूर करने का प्रयास करना चाहिए।

बारिश के मौसम में पर्वतीय और मैदानी इलाकों में हो रहे नुकसान और भूकटाव के लिए विधानसभा अध्यक्ष गोविन्द सिंह ने लोक निर्माण विभाग को जिम्मेदार ठहराया है।

बारिश से हुए नुकसान पर चिंता जताते हुए उन्होनें कहा कि मॉनसून से पहले ही नालियां खोलने का काम करने में लापरवाही बरती गई है, जिसकी वजह से बारिश का पानी भूकटाव कर रहा है और लोगों को नुकसान उठाना पड़ रहा है। लिहाजा अब विभाग को बंद पड़ी सड़कों को तत्काल खुलवाने का प्रयास करना चाहिए।