स्कूली छात्रा से गैंग रेप के दोषियों को फांसी दी जाए : अन्ना हजारे

वयोवृद्ध सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने गत सप्ताह महाराष्ट्र में अहमदनगर के कोपार्डी गांव में एक नाबालिग स्कूली छात्रा से सामूहिक दुष्कर्म के बाद उसकी अमानवीय हत्या के सभी दोषियों को फांसी देने की मांग की। एक बयान जारी कर अन्ना हजारे ने मंगलवार को घटना की निंदा की और इसे बेहद चौंकाने वाला तथा मानवता पर एक काला दाग बताया।

अन्ना हजारे ने कहा, ‘इस अपराध के अपराधी कड़े दंड पाने योग्य हैं और उन्हें फांसी ही देनी चाहिए। यह दूसरों के लिए एक उदाहरण बनेगा।’ भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई लड़ने वाले 79 वर्षीय हजारे ने कहा कि इन दिनों मानवता के नाम पर लोग अपराधियों के लिए फांसी की सजा के खिलाफ अभियान चलाए हुए हैं।

हजारे ने कहा, ‘उन लोगों के प्रति दया दिखाने का कोई आधार नहीं है, जिन्होंने इस तरह की घटनाओं से मानवता के मुख पर कालिख पोत दी है।’ त्वरित अदालत में मुकदमा लड़ने के लिए विशेष लोक अभियोजक उज्ज्वल निकम की प्रस्तावित नियुक्ति का स्वागत करते हुए हजारे ने कहा कि सरकार को अपनी पूरी ताकत झोंक देनी चाहिए और सुनिश्चित करना चाहिए कि दोषियों को जल्द सजा मिले।

उन्होंने समाज में महिलाओं की बढ़ रही असुरक्षा पर चिंता व्यक्त की और सरकार एवं पुलिस से सतर्क रहने का अनुरोध किया और इस तरह की घटनाओं की पुनरावृत्ति रोकने को कहा। गत 13 जुलाई को कोपार्डी गांव में परिजनों को एक 14 वर्षीय स्कूली छात्रा की बुरी तरह क्षत विक्षत लाश एक खेत में एक पेड़ के नीचे मिली थी, जिससे पूरे राज्य में शोक की लहर दौड़ गई थी।

इस घटना को लेकर राज्य भर में हंगामे के मद्देनजर अन्ना हजारे ने सभी राजनीतिक दलों को विवाद नहीं उत्पन्न करने, दुखद घटना को मानवीय दृष्टि से देखने और पीड़ित परिवार को सामाजिक समर्थन एवं सुरक्षा प्रदान करने की सलाह दी।