महंगाई के खिलाफ 20 जुलाई को संसद का घेराव करेगी कांग्रेस

जरूरी सामानों की कीमतों में ‘लगातार हो रही बढ़ोत्तरी’ के मुद्दे पर अपना विरोध दर्ज कराने के लिए कांग्रेस 20 जुलाई को संसद का घेराव करेगी। कांग्रेस नेताओं ने बताया कि प्रदर्शन की शुरुआत जंतर-मंतर से होगी।

जंतर मंदर पर कांग्रेस के शीर्ष नेता और पार्टी के सहयोगी संगठन ‘महिला कांग्रेस, सेवा दल, भारतीय युवक कांग्रेस और एनएसयूआई’ के प्रमुख इकट्ठा होंगे और फिर संसद तक मार्च किया जाएगा। उस वक्त संसद का मॉनसून सत्र चल रहा होगा।

महिला कांग्रेस की अध्यक्ष शोभा ओझा ने आरोप लगाया, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो साल से सरकार चला रहे हैं। अपने चुनाव प्रचार के दौरान उन्होंने महंगाई में कमी लाने का वादा किया था। लेकिन आज हम देखते हैं कि जरूरी सामानों की कीमतें बढ़ती ही जा रही हैं और लोगों के लिए दो जून की रोटी जुटाना मुश्किल हो गया है।’

ओझा ने पत्रकारों को बताया, ‘महंगाई से निपटने में बीजेपी सरकार की नाकामी का विरोध करने के लिए कांग्रेस के हमारे सभी सहयोगी संगठन संसद का घेराव करेंगे और जंतर-मंतर पर प्रदर्शन करेंगे।’ भारतीय युवक कांग्रेस के अध्यक्ष अमरिंदर सिंह राजा बराड़ ने दावा किया कि प्रधानमंत्री, जिन्हें लोगों की आकांक्षाएं पूरी करने के वादे पर जनता ने सत्ता सौंपी थी, अपने वादे पूरे करने में नाकाम रहे हैं।

बराड़ ने कहा, ‘ईंधन की कीमतें बढ़ रही हैं। खाने-पीने की कीमत बढ़ रही है। हम इस महंगाई के खिलाफ प्रदर्शन करेंगे, क्योंकि यह लोगों की कमर तोड़ रही है।’ इस बीच, कांग्रेस की जम्मू-कश्मीर इकाई ने कश्मीर घाटी में पथराव करने वालों से निपटने में सुरक्षाकर्मियों की भूमिका की तारीफ की और कहा कि देश पूरी तरह सुरक्षा बलों के पीछे खड़ा है।

प्रदेश कांग्रेस के नेताओं ने जम्मू में एक बयान जारी कर कहा, ‘अलगाववादियों और पथराव करने वालों से सख्ती से निपटने में हम सुरक्षा बलों की भूमिका की तारीफ करते हैं। लोग सुरक्षा बलों और थलसेना के पीछे मजबूती से खड़े हैं।’