बद्रीनाथ क्षेत्र में शुक्रवार शाम छह बजे बाद जोरदार बारिश होने से बद्रीनाथ हाईवे लामबगड़ में बाधित हो गया है। यहां चट्टान से भारी मात्रा में मलबा हाईवे पर आ गया। गोपेश्वर-मंडल-ऊखीमठ मोटर मार्ग पर कांचुला खर्क के पास पेड़ गिरने से सड़क अवरुद्ध हो गई है।

यहां फंसे आंध्र प्रदेश के 15 यात्रियों और 34 स्थानीय श्रद्धालुओं को पुलिस प्रशासन ने तुंगनाथ मंदिर यात्रा पड़ाव चोपटा में ठहरा दिया है। चमोली के जिलाधिकारी विनोद कुमार सुमन ने कहा कि बद्रीनाथ हाईवे के बाधित होने और भारी बारिश को देखते हुए तीर्थयात्रियों को बद्रीनाथ, पांडुकेश्वर और जोशीमठ में रोक दिया गया है।

शनिवार को हाईवे सुचारु होने पर तीर्थयात्रियों को गंतव्य के लिए रवाना कर दिया जाएगा। जिले के घाट, पोखरी और जोशीमठ क्षेत्रों में देर शाम से भारी बारिश जारी है।

badrinath-highway-closed

भारी बारिश की चेतावनी के बीच उत्तराखंड में कई जगहों पर तेज बारिश हुई। अस्थायी राजधानी देहरादून में भी करीब आधा घंटे में तेज बारिश होने के बाद गर्मी से राहत मिली। मौसम विभाग ने राज्य के कुछ हिस्सों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है।

देहरादून में शुक्रवार सुबह तेज धूप निकलने की वजह से तापमान 33.2 डिग्री तक पहुंच गया था। दोपहर बाद अचानक आए बादलों से 11.6 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई। इस वजह से सड़कों पर पानी भर गया। हालांकि बारिश से लोगों को गर्मी से राहत मिली और शाम तक तापमान गिरकर 25 डिग्री तक पहुंच गया।

मौसम विभाग के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि राज्य के कुछ हिस्सों में शनिवार को भी भारी बारिश की चेतावनी दी गई है। उन्होंने बताया कि अस्थायी राजधानी में भी बादल छाए रहेंगे और एक या दो दौर की तेज बारिश भी हो सकती है।