1.27 करोड़ की शर्ट पहनने वाले गोल्डमैन का मर्डर

पुणे : शुक्रवार सुबह 3 बजे, 2 करोड़ की गोल्डन शर्ट पहनने वाले पुणे के दत्तात्रेय फुगे की चाकुओं और पत्थर से कुचलकर हत्या कर दी गई। वे एक बर्थडे पार्टी से घर लौट रहे थे।

फुगे गोल्डमैन के नाम से फेमस थे। हमेशा 20 बॉडीगार्ड से घिरे रहने वाले फुगे घटना के दौरान अकेले थे। आरोपियों को पता चल गया था कि उनके साथ इस वक़्त बॉडीगार्ड साथ नहीं हैं।

पुलिस ने हत्या के आरोप में चार लोगों को हिरासत में लिया है। हत्या की जांच कर रही पुलिस को पता चला है कि फुगे ‘मनी वक्रतुंड’ नाम से चिटफंड कंपनी चलाते थे। इस कंपनी में उन्होंने कई लोगों से करोड़ों का इन्वेस्टमेंट करवाया था। फुगे पर लोगों के पैसे ऐंठने का आरोप भी लगा था। उनके खिलाफ कई लोगों ने एफआईआर भी दर्ज करवाई थी।

फुगे जब बर्थडे पार्टी से घर लौट रहे थे रास्ते में उनपर 7-8 लोगों ने पत्थरों, डंडे और चाकुओं से हमला कर दिया। अचानक हुए इस हमले से उन्हें बचने का मौका नहीं मिला और उनका पूरा शरीर खून से रंग गया।

सुबह पुलिस को उनका शव सड़क पर क्षत-विक्षत हालत में मिला। हत्या की इन्फॉर्मेशन के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने उनके शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है।

दत्ता की हत्या में शक के आधार पर पुलिस ने 4 लोगों को हिरासत में लिया है। फिलहाल, पुलिस इन सभी से पूछताछ कर रही है। जांच में पता चला है कि पैसे गबन करने से ये सभी दत्ता से नाराज चल रहे थे।

फुगे का ज्वैलरी का बिजनेस था। कुछ महीने पहले ही पुलिस ने फुगे को तड़ीपार करने का नोटिस जारी किया था। उन पर भोसरी पुलिस थाने में आर्थिक धोखाधड़ी तथा धमकी देने के कई मामले दर्ज हैं।

पुलिस के अनुसार फुगे पर दर्ज मामलों की गंभीरता को देखते हुए उसे तड़ीपार करने का नोटिस जारी किया गया। इस दौरान दत्ता ने पुलिसवालों पर पिटाई का आरोप लगाते हुए जबरदस्ती फंसाने का आरोप लगाया था।

दत्तात्रेय जब भी इस शर्ट को पहनकर निकलते थे, तो इनके इर्द-गिर्द 20 बॉडीगार्ड का घेरा होता था। हमेशा सिक्युरिटी में रहने वाले फुगे पार्टी से लौटते वक्त अकेले कैसे थे, पुलिस इस पहलू की भी जांच कर रही है।