सांकेतिक तस्वीर

सिनेमा के पर्दे पर लाने का ख्वाब दिखाकर एक फर्जी फिल्म डायरेक्टर हरिद्वार में कई दिन तक ग्यारहवीं की छात्रा के साथ जिस्मानी संबंध बनाता रहा। रुड़की रेलवे स्टेशन से स्थानीय पुलिस ने जब किशोरी को बरामद किया तो पूरे मामले से पर्दा उठा।

पुलिस ने फर्जी डायरेक्टर को भी दबोच लिया है। आरोपी के खिलाफ पुलिस ने पोक्सो एक्ट और रेप की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। ज्वालापुर की रहने वाली एक किशोरी एक हफ्ते पहले अचानक गायब हो गई। किशोरी के पिता ने स्थानीय पुलिस को इस संबंध में सूचना दी। पुलिस ने जब ग्यारहवीं की छात्रा का फेसबुक एकाउंट खंगाला तब शक की सुई घूमी।

छात्रा का लंबे समय से सांईराम म्युजिकेशन प्राईवेट लिमिटेड के डायरेक्टर कमल लहरी के संपर्क में होना सामने आया। पुलिस अभी पड़ताल में ही जुटी थी कि बुधवार की शाम किशोरी की लोकेशन रुड़की रेलवे स्टेशन पर मिली। एसआई वीरेंद्र सिंह नेगी ने रुड़की पहुंचकर किशोरी और उसके साथ मौजूद अधेड़ उम्र के एक व्यक्ति को पकड़ लिया।

ज्वालापुर कोतवाली लाकर की गई पूछताछ में किशोरी ने बताया कि उसकी जान पहचान कमल लहरी से फेसबुक पर हुई थी और उसने उसे अपनी आने वाली फिल्म ‘आंसुओं की कीमत’ में हीरोइन के लीड रोल का ऑफर दिया था।

इसलिए वह बिना बताए घर से चली गई। आरोप है कि कमल लहरी ने बहला फुसलाकर उसके साथ शारीरिक संबंध बनाए। विरोध करने पर गंभीर परिणाम भुगतने की चेतावनी दी और अब ऑडीशन के बहाने उसे ले जा रहा था।

एसएसआई कमल मोहन भंडारी ने बताया कि आरोपी कमल लहरी पुत्र मोतीराम निवासी दशमेश कॉलोनी जीरकपुर मोहाली पंजाब को गिरफ्तार कर लिया गया है। उसने एक फर्जी प्रोडक्शन कंपनी बनाई हुई है और अपने आफिसनुमा घर में ही किशोरी के साथ कई दिन तक दुष्कर्म करता रहा।

फर्जी फिल्म डायरेक्टर कमल लहरी रेलवे में नौकरी कर चुका है। वह अंबाला डिवीजन में कार्यरत था। यह बात पुलिस की पड़ताल में सामने आई है। अधेड़ उम्र का कमल लहरी बेहद ही सधे हुए अंदाज में बात करता है। मानो वह फिल्मी दुनिया से लंबे अर्से से जुड़ा हुआ हो। यही बात उसने अपने फेसबुक प्रोफाइल में भी लिखी हुई है। यह भी लिखा है कि वह एक एक्टर, गायक भी है।

मध्यवर्गीय परिवार से ताल्लुक रखने वाली किशोरी अपने तीन भाई-बहन में सबसे ही बड़ी है। बचपन से ही वह एक्टर बनना चाहती है। इसलिए पढ़ाई-लिखाई में उसका मन कम ही लगता है। केवल फिल्मी दुनिया के ख्वाब में ही वह हमेशा खोई रहती थी।

सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक से उसे ऐसे पंख लगे कि, अब वह बहुत कुछ खो चुकी है। आरोपी कमल लहरी ने अपने बुने जाल में ऐसे उलझाया कि उसने अपने अच्छे बुरे के बारे में बिलकुल भी नहीं सोचा।

किशोरी ने बताया कि उसके साथ बहुत बुरा हुआ। अब वह इस बारे में बिल्कुल भी नहीं सोचेगी। उसे नहीं बनना है एक्टर। उसने कहा कि उसने परिजनों को भी धोखा दिया है।