हरिद्वार जिले में रुड़की का सिविल अस्पताल एक बार फिर से चर्चाओं में आ गया है। एक आशा कार्यकर्ता ने डॉक्टर पर छेड़छाड़ का आरोप लगाया है।

आशा कार्यकर्ता का कहना है कि वह अपने मरीज को लेकर सिविल अस्पताल पहुंची थी। डॉक्टर ने उसे अपने केबिन में बुलाया और हाथ पकड़कर कहने लगा कि आशा और डॉक्टर के बीच पति-पत्नी का रिश्ता होता है। उसके बाद वो आग बबुला हो गई और डॉक्टर को जमकर खरीखोटी सुना दी।

इस मामले को लेकर दर्जनों आशा कार्यकर्ताओं ने अस्पताल में जमकर हंगामा किया। मामला बढ़ता देख आनन-फानन में सीएमएस भी अपने कार्यालय पहुंचे। इतना ही नहीं डॉक्टरों और आशा कार्यकरताओं के बीच सीएमएस कार्यालय में जमकर नोंकझोंक हुई।