पेट्रोल पंप मालिकों की मांग, ‘एक देश एक दर’ लागू हो, इससे महंगाई पर भी काबू पाया जा सकेगा

पेट्रोप पंप मालिकों ने पेट्रोल और डीजल के मौजूदा मूल्यों में असामानता को दूर करने को लेकर पेट्रोलियम उत्पादों के लिए ‘एक देश एक कीमत’ की मांग की है। ऑल इंडिया पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष अजय बंसल ने मंगलवार को चंडीगढ़ में कहा, ‘हम ईंधन के लिए ‘एक देश एक दर’ की मांग कर रहे हैं। ताकि राज्यों में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कोई विविधता नहीं रहे।

इस कदम से जरूरी जिंस के मूल्य को नियंत्रित करने में मदद मिलेगी।’ उन्होंने कहा कि राज्यों में विभिन्न वैट दरों के कारण ईंधन कीमतों में अंतर है और यह डीजल के मामले में 60 पैसे से चार रुपये प्रति लीटर तथा पेट्रोल के लिए एक रुपये से 7.50 रुपये के बीच है।

बंसल ने कहा कि पेट्रोल पर अधिकतम कर तमिलनाडु लगाता है जो करीब 35 प्रतिशत जबकि गोवा सबसे कम कर लगाता है। उन्होंने कहा कि डीजल के मामले में हरियाणा सबसे कम टैक्स लगाता है, जबकि राजस्थान तथा पश्चिम बंगाल जैसे राज्य 20 से 24 प्रतिशत टैक्स लगाते हैं।

बंसल ने कहा, ‘हम चाहते हैं कि ईंधन की कीमत पूरे देश में एक समान हो और राज्यों को इस पर आम सहमति बनानी चाहिए।’