छोटे-छोटे उद्योग लगाकर स्वरोजगार अपनाएं व रोजगार का सृजन भी करें : दुर्गापाल

श्रम, सेवायोजन एवं दुग्ध विकास मंत्री श्री हरीशचन्द्र दुर्गापाल ने अपनी विधानसभा क्षेत्र में बुधवार 13 जुलाई को लगभग 04 करोड 78 लाख की लागत से निर्मित विभिन्न योजनाओ का लोकापर्ण किया। श्री दुर्गापाल 97 लाख 64 हजार की लागत राज्य सैक्टर के अन्तर्गत देवपुर में मिनी नलकूप, तथा स्वैप योजना के अन्तर्गत निर्मित 01 करोड 83 लाख की किसनपुर-सुन्दरपुर ग्राम समूह पेयजल योजना एवं 01 करोड 98 लाख की बसन्तपुर-सीतापुर में पेयजल योजना का लोकार्पण किया।

समारोह को सम्बोधित करते हुये श्रम मंत्री हरीश चन्द्र दुर्गापाल ने श्री दुर्गापाल ने कहा कि विकास हमारी परम्परा है। हम जन आकांक्षाओं के अनुरूप विकास कार्य करने मे विश्वास रखते है। उन्होेने कहा उत्तराखण्ड में पलायन को रोकने हेतु सभी को स्वरोजगार से जोडने की आवश्यकता है। उन्होने जनता से आह्वान किया कि वे छोटे-छोटे उद्योग लगाकर स्वरोजगार अपनाये व रोजगार का सृजन भी करें।

इसके लिए सरकार द्वारा तकनीकी शिक्षा के साथ ही कौशल विकास योजना के अन्तर्गत विभिन्न प्रकार की प्रशिक्षण आयोजित किये जा रहे है। प्रशिक्षण उपरान्त बैकों द्वारा उन्हे स्वरोजगार हेतु ऋण भी उपलब्ध कराया जा रहा है। उन्होने कहा समाज कल्याण विभाग अनेक जनकल्याणकारी योजनायें चला रहा है। सभी को पात्र लोगो को पेंशन अनिवार्य रूप से दी जा रही है। उन्होने कहा हमारा नारा है कि हर घर परिवार आर्थिक रूप से मजबूत हो।

उन्होने कहा कि जन समस्याओं के निराकरण के साथ ही सरकार का पूरा ध्यान सडक, बिजली, पानी, शिक्षा एवं जन स्वास्थ्य जैसी मूलभूत आवश्यकताओं को युद्ध स्तर पर पूरा करने पर है। आज प्रदेश में सडकों के जाल के साथ ही स्वास्थ्य सेवाओं की बेहतरी एंव विद्यालयो के उच्चीकरण का कार्य तेजी से हो रहा है। वही गरीब मजदूर आदमी की रोजी रोटी मे इजाफा करने के उददेश्य से उन्हे टूल किट भी दी जा रही है। उन्होने बताया कि प्रदेश में अभी तक 01 लाख से अधिक श्रमिकों का पंजीकरण कर टूल किट साइकिल, सहायता राशि आदि वितरित की गयी है। उन्होने कहा कि विकास एक सत्त प्रक्रिया है जो कभी रूकती नही है। प्रदेश सरकार द्वारा उत्तराखण्ड की महिलाओ के आर्थिक उन्नयन के लिए अनेको अनुदान पोषित योजनाये संचालित की है, जिसमें से गंगा गाय योजना महिलाओ के बीच मे काफी लोकप्रिय हो रही है। उन्होने कहा महिलाये स्वयं सहायता समूह के माध्यम से रोजगार से जुडना चाहती है।

श्री दुर्गापाल ने कहा कि सडक, बिजली, पानी व स्वास्थ्य हमारी सरकार की प्राथमिकता है। सरकार का उद्देश्य है कि जनमानस को अधिक से अधिक सुविधायें मिले। उन्होने बताया कि उनकी विधानसभा में महाविद्यालय, दस बिस्तर वालेे अस्पताल, दुग्ध विकास प्रशिक्षण केन्द्र, आईटीआई एवं विद्युत केन्द्र बनाये गये। सरकार की जो भी योजनायें समय-समय पर आती है उन योजनाओं का लाभ समाज के अन्तिम छोर तक प्रत्येक व्यक्ति को मिल सके यह हमारा प्रयास है। उन्होने कहा सरकार द्वारा क्षेत्र में जो भी विकास कार्य कियेे गये उसका इतिहास आपके सामने है।

श्रम मंत्री श्री दुर्गापाल द्वारा देवपुर में मिनी नलकूप एवं पम्प हाउस हेतु निःशुल्क भूमि दानदाता कुन्दन सिंह का सम्मान किया गया। उन्होंने कहा कि क्षेत्रवासी यदि इसी प्रकार सहयोग करें तो क्षेत्र की समस्त समस्याओं को निराकरण आसानी से सम्भव है। विकास के लिए जनसहयोग अति आवश्यक है।

कार्यक्रम में ब्लाक प्रमुख भोलादत्त भट्ट, ज्येष्ठ प्रमुख तारा नेगी, ग्राम प्रधान बलजीत सिंह, तारेष बिष्ट, गोपाल राम, चन्दन नेगी, बलकार सिंह, बंगी बिष्ट, गीता पलडिया, प्रकाश बोरा सहित बडी संख्या में ग्रामवासी मौजूद थे।