खालसा गर्ल्स इण्टर कालेज ने मनाया जाने माने पर्यावरणविद स्व.सरदार जगत सिंह का जन्मदिवस

जाने माने पर्यावरणविद्, कवि, लेखक एवं छायाकार स्व0 सरदार जगत सिंह के जन्मदिवस के अवसर पर उनके परिजनों द्वारा स्व0 जगत सिंह की स्मृति में खालसा गल्र्स इण्टर कालेज में आयोजित कार्यक्रम में सिटी मजिस्ट्रेट हरबीर सिंह ने उनके चित्र पर माल्यापर्ण कर श्रद्धाजंलि दी।

मुख्य अतिथि श्री सिंह ने खालसा इण्टर कालेज की इण्टमीडिएट की टाॅपर छात्रा रूचि जन्तवाल को पांच हजार की नकद धनराशि एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। गौरतलब है कि स्व0 जगत सिंह के परिजनों द्वारा विगत 04 वर्षों से खालसा विद्यालय की टाॅपर छात्रा को यह सम्मान दिया जाता है।

आयोजित कार्यक्रम में उपस्थित छात्राओं एवं गणमान्य लोगों को सम्बोधित करते हुए सिटी मजिस्ट्रेट श्री सिंह ने कहा कि स्व0 जगतसिंह बहुआयामी व्यक्तित्व के धनी थे। उनके द्वारा पर्यावरण सुरक्षा के लिए किये गये कार्यों तथा हल्द्वानी को ग्रीन सिटी बनाने की दिशा में कार्य किया गया। उन्होनें कहा कि आज भी ग्रीन हल्द्वानी क्लीन हल्द्वानी के उद्देश्य के साथ महानगर के पार्कों को वित्त मंत्री डा0 श्रीमती इन्दिरा हृदयेश के दिशा निर्देशांे में सुन्दर बनाया गया है। जगह-जगह वृक्षारोपण कर शहर में हरियाली को बरकरार रखा गया है।

अपने अध्यक्षीय सम्बोधन में उपस्थित छात्राओ एवं लोगो सम्बोधित करते हुये विशिष्ट अतिथि श्री मिश्रा ने कहा कि आजादी के बाद 1950 में सरदार जगत सिंह द्वारा हल्द्वानी में कला भवन नाम से फोटो स्टूडियो की स्थापना की थी। स्व0 जगत सिंह एक महान छायाकार, समाजसेवी एवं पर्यावरणविद् होने के साथ ही एक अच्छे कवि और लेखक भी थे। उन्होने जगत पे्ररणा, रामनाम की महिमा, वृक्ष, हरिनाम रामनाम अनमोल भजन नामक पुस्तकें लिखी। वह एक मशहूर शायर भी थे। श्री मिश्रा ने कहा कि उनके सानिध्य में स्वयं उन्होने फोटोग्राफी कला सीखी। श्री मिश्रा ने बताया कि बतौर फोटोग्राफी प्रशिक्षक उन्होनें लगभग 20 हजार बेरोजगारों को फोटोग्राफी का पाठ पढ़ाया, जिसमें से काफी लोग फोटोग्राफी व्यवसाय में स्थापित हैं। श्री मिश्रा ने कहा कि स्व0 जगत सिंह उनके आदर्श एवं प्रेरणाश्रोत हैं।

स्व0 जगतसिह के पुत्र लखबीर सिंह तथा सतिन्दर सिंह शम्मी द्वारा स्व0 जगत सिंह के जीवन परिचय के साथ ही उनके समाज के लिए किये गये कार्यों तथा उनके लिखी गयी पुस्तकों को विवरण प्रस्तुत किया।
कार्यक्रम में पुरस्कृत छात्रा रूचि जन्तवाल की माँ हेमा जन्तवाल, पिता आन सिंह जन्तवाल के अलावा, विद्यालय प्रबन्धन समिति के अध्यक्ष परमजीत सिंह सन्टी, प्रबन्धक गुरविन्दर सिंह, प्रधानाचार्य मुन्नी त्रिपाठी, सरदार हरजीत सिह, अमरजीत सिंह, मनमोहन सिंह एवं अन्य गणमान्य नागरिक मौजूद थे। संचालन मोहिता काण्डपाल द्वारा किया गया।