दीपक रावत ने किया गैरखेत अघोड़ा मार्ग का निरीक्षण

विगत सोमवार को सम्पन्न हुई बीडीसी की बैठक में जनप्रतिनिधियों द्वारा अघौडा मोटर मार्ग पर मलुवा आने तथा चाहरदीवारी के सम्बन्ध में शिकायत दर्ज करायी गयी थी। बीडीसी मे बैठक मे प्रस्तुत की गयी जानकारी को गम्भीरता से लेते हुये जिलाधिकारी दीपक रावत द्वारा मंगलवार की सांय पौलिटैक्निक से गैरखेत अघोडा मार्ग का अधिकारियो के साथ निरीक्षण किया।

निरीक्षण के दौरान उन्होने लोनिवि के अधिकारियों को निर्देश दिये कि मलुवा हटाने का काम प्राथमिकता पर होना चाहिए। सडकें हमारे पर्वतीय क्षेत्रों की लाईफ लाइन है इनके बन्द हो जाने से जनजीवन प्रभावित होता है। ऐसे मे आवगमन तथा जनजीवन को सामान्य बनाये रखने के लिए सडकों का तत्काल खोला जाना आवश्यक है। उन्होने अधिकारियो से कहा कि मलुवा डालते समय इस बात का ध्यान रखे मलुवा फैके जाने से इस बात को देख ले कि वहा कोई आबादी ना हों।

उन्होने कहा कि अघोडा मोटर मार्ग पर जिन स्थानों पर निरन्तर मलुवा आ रहा है उसकी रोकथाम किये जाने के लिए तत्काल इस्टीमेेट तैयार कर उनको प्रस्तुुत किया जाए ताकि धनराशि का आवंटन करा जा सके। उन्होने कहा कि जनपद के अन्य ऐसे मार्गो का भी जहां निरन्तर मलुवा आता रहता है वहां इस प्रकार की चाहरदीवारी बनायी जानी चाहिए।

उन्होने अधिकारियो से नियमित रूप से सडकों का निरीक्षण करने के निर्देश दिये। निरीक्षण के दौरान संयुक्त मजिस्टेट वंदना, ग्रामप्रधान कृष्ण कुमार आर्य,क्षेत्र पंचायत सदस्य आन सिह मेहरा, प्रभालता आर्य आदि मौजूद थे।