चमोली : आपदा प्रबंधन तंत्र को बेहतर बनाने के लिए स्थानीय लोगों को ट्रेनिंग देगी पुलिस

आपदा प्रबंधन तंत्र को बेहतर बनाने के लिए चमोली पुलिस की ओर से हर गांव में विशेष पुलिस अधिकारी और उनके द्वारा प्रशिक्षित स्वयंसेवक तैनात किए जाएंगे।

चमोली की पुलिस अधीक्षक प्रीति प्रियदर्शनी ने आपदा प्रबंधन योजना की जानकारी देते हुए बताया कि आपदा के दौरान रिस्पॉन्स का समय कम से कम करने के लिए पुलिस बल गांववालों की मदद से इस योजना को अंजाम दे रहा है।

उन्होंने बताया कि इसके तहत हर थाने में कम से कम पांच ऐसे युवकों को प्रशिक्षित किया जाएगा, जो आपदा से होने वाले जानमाल की क्षति को कम से कम करने में मददगार हो सके।

इस योजना की शुरुआत हर थाने में विशेष पुलिस अधिकारी की तैनाती से होगी और इन्हें हर तरह की आपदा से निपटने के लिए तैयार किया जाएगा। इनके माध्यम से गांवों में आपदा प्रबंधन के लिए लोगों को तैयार किया जाएगा।

चमोली पुलिस की योजना है कि वनाग्नि, भूस्खलन, बाढ़ और भूकम्प जैसी आपदाओं में जानमाल के नुकसान को कम से कम करने के लिए सरकारी मशीनरी के साथ-साथ स्थानीय लोगों को प्रशिक्षित व जागरुक किया जाए। उनका मानना है कि इससे यात्राकाल में प्राकृतिक आपदा की स्थिति के दौरान स्थानीय लोगों के साथ-साथ तीर्थयात्रियों में भी सुरक्षा का भाव बना रहेगा।