‘बुरहान वानी पर की गई टिप्पणी आतंकवाद के प्रति पाकिस्तान के समर्थन को दर्शाती है’

वाशिंगटन।… अमेरिका की एक न्यूज वेबसाइट ने सोमवार को कहा कि हिज्बुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी के समर्थन में की गई पाकिस्तान की टिप्पणी क्षेत्र में मौजूद आतंकवादी समूहों के प्रति उसके समर्थन को दर्शाती है।

‘द लॉन्ग वार जर्नल’ (टीएलडब्ल्यूजे) ने अपनी एक रिपोर्ट में कहा, ‘पाकिस्तान की सरकार ने भारतीय सैनिकों द्वारा हिज्बुल मुजाहिदीन कमांडर बुरहान वानी के मारे जाने को ‘दुखद और निंदनीय’ करार दिया है। इससे क्षेत्र में मौजूद आतंकी समूहों को मिल रहा पाकिस्तान का समर्थन उजागर होता है।’

उन्होंने कहा कि आईएसआई पाकिस्तान की विदेशी नीति को गुपचुप तरीके से निर्देशित करती है। भारत से जम्मू-कश्मीर को अलग करने के लिए उसने राज्य में कई जिहादी समूहों का निर्माण किया है और उनका समर्थन भी करती है।

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने तनाव पर चिंता जताई
संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून ने हिज्बुल मुजाहिदीन आतंकी बुरहान वानी के मारे जाने के बाद कश्मीर में पैदा हुए तनाव को लेकर चिंता जताई है। मून के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने सोमवार को संवाददाताओं से कहा कि संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने कश्मीर में पैदा हुए हालात पर चिंता जाहिर की है।

दुजारिक ने पाकिस्तान के एक पत्रकार की उस टिप्पणी को सिरे से खारिज कर दिया कि दक्षिणी सूडान में हालात पर संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करने के दौरान मून ने कश्मीर के मुद्दे को ‘दरकिनार कर दिया।’

उन्होंने कहा, ‘कोई इससे इंकार नहीं कर रहा है कि कश्मीर में हालात पर हम चिंतित है। महासचिव ने इस मुद्दे को नहीं उठाया, जैसे कि उन्होंने दुनिया में बहुत सारे महत्वपूर्ण मुद्दों को नहीं उठाया। इसका यह मतलब नहीं कि उन्होंने किसी चीज को दरकिनार कर दिया है।’