लंदन।… दूसरे वरीय एंडी मरे ने रविवार को पुरुष एकल फाइनल में कनाडा के मिलोस राओनिच को सीधे सेटों में 6-4, 7-6, 7-6 से हराकर दूसरी बार विंबलडन और तीसरी बार ग्रैंडस्लैम खिताब जीता।

दुनिया के दूसरे नंबर के टेनिस खिलाड़ी 29 साल के मरे ने इससे पहले 2013 में भी विंबलडन में खिताब जीता था जबकि 2012 में वह अमेरिकी ओपन चैम्पियन बने थे।

ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट के फाइनल में 11वीं बार हिस्सा ले रहे स्काटलैंड के मरे ने इस जीत के साथ छठे वरीय राओनिच की ग्रैंडस्लैम खिताब जीतने वाला कनाडा का पहला खिलाड़ी बनने की उम्मीद भी तोड़ दी। मरे पहली बार किसी ग्रैंडस्लैम के फाइनल में नोवाक जोकोविच और रोजर फेडरर के अलावा किसी अन्य खिलाड़ी से भिड़ रहे थे।

मरे ने खिताब जीतने के बाद कहा, ‘प्रत्येक साल यह मेरे लिए सबसे महत्वपूर्ण टूर्नामेंट होता है। मैंने यहां कुछ शानदार लम्हें जिए हैं और कुछ कड़ी हार मिली हैं। आज मैंने शानदार खेल दिखाया।’ उन्होंने कहा, ‘कड़ी हार के कारण जीत अतिरिक्त विशेष हो जाती है। मुझे गर्व है कि यह ट्रॉफी एक बार फिर मेरे हाथ में है।’

मरे को दो घंटे और 48 मिनट चले इस मुकाबले के दौरान सिर्फ दो ब्रेक प्वाइंट का सामना करना पड़ा जबकि फाइनल तक के सफर के दौरान 137 ऐस लगाने वाले 25 वर्षीय राओनिच फाइनल में सिर्फ आठ ऐस लगा पाए।

Andy-Murray-Wimbledon

मरे ने इसके साथ ही इस साल ऑस्ट्रेलिया ओपन और फ्रेंच ओपन फाइनल में जोकोविच के खिलाफ हार के गम को कुछ हद तक दूर किया। राओनिच को गलतियों का खामियाजा भी भुगतना पड़ा। उन्होंने मरे की 12 सहज गलतियों की तुलना में 29 गलतियां की। उनकी यह गलतियां उन्हें भारी पड़ीं, क्योंकि मैच के दौरान सिर्फ एक बार किसी खिलाड़ी की सर्विस टूटी।

मैच देखने के लिए दर्शकों के बीच कई नामी गिरामी हस्तियां मौजूद थी जिसमें सेंटर कोर्ट के रॉयल बाक्स में प्रिंस विलियम और उनकी पत्नी केट के अलावा ब्योन बोर्ग, बोरिस बेकर और स्टीफन एडबर्ड जैसे पूर्व चैम्पियनों सहित हॉलीवुड स्टार ब्रेडले कूपर, बेनेडिक्ट कंबरबैच और ह्यू ग्रांट भी मौजूद थे।

मरे ने 2016 में राओनिच के खिलाफ सभी चार मुकाबले जीते हैं। उन्होंने मैच की अच्छी शुरुआत की। पहले सेट के सातवें गेम में यह दूसरा वरीय खिलाड़ी पहले ब्रेक प्वाइंट का फायदा नहीं उठाया पाया, लेकिन इसके बाद उन्होंने 4-3 की बढ़त बना ली। सेमीफाइनल में रोजर फेडरर को पांच सेट में हराने वाले राओनिच ने टूर्नामेंट में सिर्फ छठी बार अपनी सर्विस गंवाई।

मरे ने इसके बाद स्कोर 5-3 किया। राओनिच ने अपनी सर्विस बचाई, जबकि मरे ने भी अपनी सर्विस बचाते हुए पहला सेट जीत लिया। मरे ने इसके बाद दूसरा सेट टाईब्रेक में जीता। तीसरे सेट के पांचवें गेम में राओनिच को दो ब्रेक प्वाइंट मिले, लेकिन मरे ने दोनों बचा लिए।

तीसरा सेट भी टाईब्रेक में खिंचा जहां मरे को पांच मैच प्वाइंट मिले। राओनिच ने एक मैच प्वाइंट बचाया लेकिन कनाडा के इस खिलाड़ी ने अगले अंक में शाट नेट पर मारकर खिताब मरे की झोली में डाल दिया।