गुरुकुल कांगड़ी के कुलपति पर दर्ज होगा मुकदमा, 11 साल की उम्र में हो गए थे ग्रेजुएट

गांव मझोल, तहसील देवबंद निवासी हरीफल पुत्र रामस्वरूप ने पुलिस से गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. सुरेंद्र कुमार की शिकायत की थी। कुलपति पर आरोप है कि उन्होंने पांच साल की उम्र में हाईस्कूल और नौ साल की उम्र में इंटरमीडियेट की परीक्षा पास कर ली थी। वहीं 11 साल की उम्र में ग्रेजुएट होना दर्शाया है।

इससे पहले भी कुलपति की डिग्रियों को लेकर विवाद चला आ रहा है।आरोपों पर एसपी सिटी ने कुलपति के तमाम दस्तावेजों की शुरुआती जांच की। इसके बाद मामले की विस्तार से जांच के लिए मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए गए।

बताया जा रहा है कि इसको लेकर कोर्ट में भी मामला विचाराधीन है। वहीं एसपी सिटी नवनीत सिंह भुल्लर ने बताया कि दस्तावेजों का परीक्षण किया गया था। मुकम्मल तरीके से जांच के लिए एफआईआर दर्ज करने के निर्देश दिए गए। जांच के बाद ही स्थिति साफ हो पाएगी।

गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय हरिद्वार के कुलपति डॉ. सुरेंद्र कुमार ने आरोपों पर कहा कि मेरे खिलाफ साजिश रची जा रही है। सभी आरोप बेबुनियाद हैं। इसको लेकर पहले ही कोर्ट में एक मामला चल रहा है। अब एफआईआर दर्ज कराने की क्या जरूरत थी। कोर्ट के फैसले का इंतजार किया जाना चाहिए था। फिर भी मैं हर तरह की जांच के लिए तैयार हूं।