कश्मीर हिंसा में 19 की मौत, कर्फ्यू लागू

सुरक्षाबलों और प्रदर्शनकारियों के बीच संघर्ष में 19 प्रदर्शनकारियों की मौत हो गई, जिसके बाद घाटी में कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए कर्फ्यू लगा दिया गया। कश्मीर के संभागीय आयुक्त असगर हुसैन समून ने संवाददाताओं को बताया कि कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए पूरी कश्मीर घाटी में कर्फ्यू लगा दिया गया है, जो शनिवार आधी रात से लागू है। उन्होंने लोगों से शांति बनाए रखने में प्रशासन को सहयोग देने की अपील की।

हिंसक प्रदर्शनकारियों और सुरक्षबालों के बीच संघर्षो में मृतकों की संख्या बढ़कर 19 हो गई।

हिजबुल कमांडर बुरहान वानी की मौत के बाद उपजे संघर्षो में दोरू अनंतनाग के आदिल बशीर, अचाबल अनंतनाग के दानिश आयूब, अरवानी अनंतनाग के अब्दुल हामिद मूची, हरवत कुलगाम के खुर्शीद अहमद, बिजबेहरा अनंतनाग के जहांगीर गनाई, शोपियां के आजाद हुसैन, सिलिगाम अनंतनाग के एजाज अहमद ठोकरू, कोकरनाग अनंतनाग के अशरफ डार, बिजबेहरा अनंतनाग के शौकत अहमद, खानाबल अनंतनाग के हसीब अहमद और अचाबल अनंतनाग के साकिब मीर की मौत हुई है।

अतिरिक्त महानिदेशक (सीआईडी) एस.एम.सहाय और पुलिस महानिरीक्षक (कश्मीर क्षेत्र) के सैयद जाविद मुजतबा गिलानी ने संवाददाताओं को बताया कि हिंसक भीड़ ने शनिवार को चार पुलिस थानों, दो पुलिस पिकेट और तहसीलदार के कार्यालय में आग लगा दी।

इसके अलावा, सुरक्षाबलों के हथियार छीनने और उनके वाहनों में आग लगाने की भी घटनाएं हुई हैं।

वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों का कहना है कि शनिवार को हुए संघर्षो में तीन पुलिसकर्मी लापता हैं, जबकि 96 सुरक्षाकर्मी घायल हो गए।

गौरतलब है कि हिजबुल मुजाहिद्दीन के कमांडर बुरहान वानी की मौत के बाद अलाववादियों ने घाटी में बंद का आह्वान किया है, जो सोमवार तक जारी रहेगा।

मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती की अध्यक्षता में रविवार को श्रीनगर में मंत्रिमंडल की बैठक होगी, जिसमें राज्य में कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने पर चर्चा होगी।