हल्द्वानी के बढ़ते ट्रैफिक पर डीएम दीपक रावत ने लिया एक्शन

हल्द्वानी : वाहनो के बढते दबाव एवं अपर्याप्त पार्किग स्थलों के कारण महानगर हल्द्वानी मे आये दिन जाम की स्थिति बनी रहती है ऐसे में ट्रैफिक को नियंत्रण करना काफी कठिन होता जा रहा है।

आवागमन को सुगम बनाने तथा ट्रैफिक को सुचारू रखने के लिए जिलाधिकारी दीपक रावत की पहल पर शहर के महानगर के व्यस्थतम चैराहो पर ट्रैफिक लाईट, लगायी जा रही है। जिलाधिकारी द्वार कुछ समय पहले मुखानी चैराहे पर लगभग दस लाख की लागत से ट्रैफिक लाईट लगवाई गयी है।

इसी कडी में द्वितीय चरण में तिकोनियां चैराहा, सिधी चैराहा तथा कोआपरेटिव बैक चैराहे पर नई टैफिक लाईटें लगायी जाने के सम्बन्ध में जिलाधिकारी शिविर कार्यालय मे बैठक आयोजित की गयी जिसमें ट्रैफिक लाईट लगाने के लिए भारत सरकार की राइट्स कम्पनी को कार्य दिये जाने की सहमति बनी।

गौरतलब है इस संस्था द्वारा देश के 13 राज्यो मे ट्रैफिक लाईट लगाने का संतोषजनक कार्य किया है।

जिलाधिकारी श्री रावत ने बताया कि हल्द्वानी महानगर की ट्रैफिक व्यवस्था की समस्या से निजात दिलाने हेतु भारत सरकार की कम्पनी राइटस लिमिटेड से करार हुआ है।

श्री रावत ने बताया है कि हल्द्वानी की में वर्तमान मे लगभग दो लाख वाहन सडकों पर चल रहे है। इसके अलावा बाहर से आने वाल वाहनों का दबाव अलग से है।

उन्होने बताया कि राइटस कम्पनी ने 13 राज्यो में ट्रैफिक व्यवस्था पर कार्य कर चुकी है।

उन्होने बताया हल्द्वानी में तिकोनिया चैराहा, कोआपरेटिव बैक चैराहा, सिधी चैराहा एवं मुखानी चैराहे मे ट्रैफिक व्यवस्था कैसे सुचारू हो इसके लिए राइटस के इंजिनियर तरूण जैन व नमित कुमार के साथ निरीक्षण किया।

उन्होने बताया कि कैसे सिगनल व्यवस्था, वनवे ट्रैफिक,यूटर्न, फ्लाई ओवर से टैªफिक नियंत्रण में कैसे हो सकता है इस पर विचार किया गया।

श्री रावत ने कहा कि ट्रैफिक का सुगमता से संचालन हो इसके लिए एक-एक चैराहे का प्लान बनाया जायेगा। जिससे कि महानगर की ट्रैफिक व्यवस्था सुचारू हो।

निरीक्षण दौरान सिटी मजिस्टेट हरवीर सिह, एसपी यशवन्त सिह चैहान,अधिशासी अभियन्ता लोनिवि रणजीत सिह रावत मौजूद थे।