बढ़ती महंगाई पर काबू पाने के लिए मोजांबिक से दालें खरीदेगा भारत : पीएम मोदी

पीएम नरेन्द्र मोदी -फाइल फोटो

विभिन्न देशों में आतंकी हमलों में आई तेजी के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि आतंकवाद पूरी दुनिया के लिए सबसे बड़ा खतरा है। चार अफ्रीकी देशों के दौरे के तहत प्रधानमंत्री गुरुवार को मोजांबिक पहुंचे पीएम ने कहा कि भारत अपनी जरूरतें पूरी करने और कीमतों पर नियंत्रण के लिए इस अफ्रीकी देश से दालों की खरीदारी करेगा।

बांग्लादेश और सऊदी अरब सहित विश्व के विभिन्न हिस्सों में आई आतंकी हमलों की तेजी के बीच पीएम ने कहा, ‘आतंकवाद आज पूरे विश्व की सुरक्षा के लिए सबसे बड़ा खतरा है।’ उन्होंने कहा कि आतंकवाद का नेटवर्क अन्य अपराधों से जुड़ा हुआ है, जिसमें ड्रग तस्करी भी शामिल है। इस पर अंकुश लगाने के लिए भारत और मोजांबिक ने समझौता किया है।

प्रधानमंत्री और मोजांबिक के राष्ट्रपति फिलिप नयूसी के बीच विभिन्न विषयों पर चर्चा के बाद हुए दीर्घावधि के महत्वपूर्ण समझौते के तहत भारत अपनी दाल की कमी को पूरी करने और कीमतें नियंत्रित रखने के लिए मोजांबिक से दाल की खरीदारी करेगा।

उन्होंने कहा कि दाल खरीदारी के समझौते से भारत की जरूरतें पूरी होंगी साथ ही यह मोजांबिक के किसानों की आय बढ़ाने में भी मददगार होगा। मोजांबिक द्वारा कृषि क्षेत्र को सबसे अधिक तरजीह दिए जाने को देखते हुए मोदी ने कहा कि भारत कृषि इंफ्रास्ट्रक्चर और उत्पादन के विकास के प्रयासों में साझेदार बनेगा।

प्रधानमंत्री ने कृषि, स्वास्थ्य सेवा, ऊर्जा सुरक्षा, सुरक्षा, रक्षा और कौशल विकास जैसे क्षेत्रों की पहचान की जहां दोनों देशों के बीच सहयोग की संभावनाएं हैं। दोनों देश हिंद महासागर से जुड़े हुए हैं।

प्रधानमंत्री ने भारत को मोजांबिक का ‘विश्वसनीय दोस्त’ और एक ‘भरोसेमंद साझेदार’ घोषित किया। उन्होंने कहा कि मोजांबिक की सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रणाली को मजबूत करने के तहत भारत एड्स की दवाई सहित दूसरी आवश्यक दवाएं दान करेगा। दोनों नेताओं के बीच हुई चर्चा के दौरान कारोबार और निवेश बढ़ाने के अलावा अन्य क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने पर भी चर्चा हुई।

बाद में नयूसी की मेजबानी में अपने सम्मान में दिए गए एक भोज में पीएम मोदी ने कहा कि भारत अपने अनुभव, प्रौद्योगिकी, क्षमताओं को मोजांबिक के साथ साझा करने को तैयार है। पीएम ने कहा कि आज हम मोजांबिक को दुनिया की सबसे तेज गति से बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं में देखते हैं।

शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दक्षिण अफ्रीका पहुंचने से पहले वहां के विदेश मंत्री मैते न्कोआना-माशाबेन ने गुरुवार को कहा कि पीएम के आने से दोनों देशों के बीच के अच्छे रिश्ते और मजबूत होंगे। उन्होंने कहा कि मोदी की यात्रा का पमुख उद्देश्य वाणिज्यिक और कारोबारी रिश्तों को प्रगाढ़ करना और दोनों देशों के निजी क्षेत्रों के बीच संबंधों को प्रोत्साहित करना होगा।