पीएम मोदी चार अफ्रीकी देशों की पांच दिवसीय यात्रा पर रवाना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को चार अफ्रीकी देशों की पांच दिवसीय यात्रा पर रवाना हो गए। मोदी की इस यात्रा का मकसद अफ्रीकी महाद्वीप से भारत के रिश्ते, खासकर आर्थिक क्षेत्र एवं लोगों से लोगों के संपर्क के मामलों में, प्रगाढ़ करना है।

पीएम मोदी अपनी इस पांच दिवसीय यात्रा की शुरुआत मोजाम्बिक से करेंगे और इसके बाद दक्षिण अफ्रीका, तंजानिया और केन्या जाएंगे। इस यात्रा का जोर हाइड्रोकार्बन, समुद्री सुरक्षा, व्यापार एवं निवेश, कृषि एवं खाद्य के क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने पर होगा।

रवाना होने से पहले ट्वीट कर पीएम मोदी ने कहा, ‘भारत और अफ्रीका के बीच रिश्ते प्रगाढ़ करने के मकसद से हो रही मेरी अफ्रीका यात्रा मोजाम्बिक की संक्षिप्त लेकिन महत्वपूर्ण यात्रा से शुरू होगी।’ उन्होंने कहा, ‘दक्षिण अफ्रीका में मेरा कार्यक्रम प्रिटोरिया, जोहानिसबर्ग और डरबन से लेकर पीटरमारित्जबर्ग तक होगा।’

पीएम मोदी ने बताया, ‘तंजानिया में मैं राष्ट्रपति डॉ. जॉन मागुफुली से वार्ता करूंगा, ‘सोलर मामाज’ से मुलाकात करूंगा और भारतीय समुदाय से मिलूंगा।’ सबसे अंत में होने वाली अपनी केन्या यात्रा के बारे में पीएम मोदी ने ट्वीट किया, ‘मेरी केन्या यात्रा के दौरान राष्ट्रपति यू केन्याटा के साथ बातचीत में आर्थिक मुद्दों पर चर्चा और दोनों देशों के लोगों के बीच के संबंधों पर जोर रहेगा।’

फेसबुक पर ब्योरा देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि उनकी मोजाम्बिक यात्रा का मकसद सहयोग बढ़ाना और सांस्कृतिक संबंधों में मजबूती लाना है। उन्होंने कहा, ‘मैं राष्ट्रपति फिलिप न्यूसी से मुलाकात करूंगा और उनके साथ गहन वार्ता करुंगा।’

अन्य कार्यक्रमों में नेशनल असेंबली की अध्यक्ष वेरोनिका मकामो से मुलाकात और मौलाना स्थित एस एंड टी पार्क का दौरा शामिल है जहां वह छात्रों से मुखातिब होंगे। वह कुछ देर के लिए भारतीय समुदाय से भी मिलेंगे।

गुरुवार शाम को मोदी दक्षिण अफ्रीका के प्रिटोरिया की यात्रा करेंगे। उन्होंने दक्षिण अफ्रीका को एक ‘अहम रणनीतिक साझेदार’ करार दिया जिसके साथ ‘हमारे संबंध ऐतिहासिक और गहरे हैं।’

पीएम मोदी ने कहा, ‘इतिहास इस बात का गवाह है कि दक्षिण अफ्रीका में महात्मा गांधी के बिताए दिनों ने उन पर और विश्व के इतिहास पर कैसा प्रभाव डाला। वह दक्षिण अफ्रीका एक वकील के तौर पर काम के लिए गए थे और मानवीय मूल्यों की एक ऐसी सशक्त आवाज के तौर पर भारत लौटे जिसने मानवता के इतिहास को आकार दिया।’

पीएम मोदी ने लिखा, ‘मुझे फीनिक्स सेटलमेंट और पीटरमारित्जबर्ग स्टेशन जाने का सौभाग्य प्राप्त होगा, ये दो ऐसी जगहें हैं जो दक्षिण अफ्रीका में महात्मा गांधी के बिताए दिनों से काफी करीबी तौर पर जुड़ी हुई हैं।’ उन्होंने कहा, ‘प्रिय मादीबा (नेलसन मंडेला) को याद किए बगैर दक्षिण अफ्रीका की यात्रा अधूरी है। मैं कॉंस्टीच्यूशनल हिल और नेलसन मंडेला फाउंडेशन जाकर भी सम्मानित महसूस करुंगा, जहां मैं मानव इतिहास के एक महान व्यक्तित्व को श्रद्धांजलि अर्पित करूंगा।’

अपनी दक्षिण अफ्रीका यात्रा के दौरान वह राष्ट्रपति जैकब जुमा और उप-राष्ट्रपति साइरिल रामाफोसा से भी मुलाकात करेंगे। उन्होंने कहा, ‘हमारे आर्थिक संबंधों को और मजबूती देने की कवायद के तहत मैं भारत-दक्षिण व्यापार सम्मेलन को संबोधित करुंगा।’

10 जुलाई को मोदी तंजानिया की ‘संक्षिप्त लेकिन महत्वपूर्ण’ यात्रा पर जाएंगे। इसके बाद पीएम मोदी 10 जुलाई की शाम को केन्या जाएंगे।