कॉर्बेट नेशनल पार्क के जंगलों से निकलकर तीन हाथी कालागढ़ की नई कॉलोनी में घरों के बीच आ धमके। जंगली हाथी को घर के आंगन में देखकर लोगों में अफरातफरी मच गई। उन्होंने किसी तरह घर से दूर भागकर जान बचाई।

वन कर्मियों ने हवाई फायर कर हाथियों को जंगल की ओर खदेड़ा। दरअसल सोमवार को कालागढ़ की नई कॉलोनी में उस समय लोगों में हड़कंप मच गया जब कॉर्बेट नेशनल पार्क के जंगलों से निकल कर हाथी के दो बच्चे और एक विशालकाय नर हाथी लोगों के घरों के आगे टहलने लगे।

हाथी को देखते ही लोगों के होश उड़ गए। उन्होंने घर से दूर जाकर अन्य मकानों के लेंटर में चढ़ने में ही भलाई समझी। इसी बीच सूचना पर वन विभाग के बीट इंचार्ज इंद्रमोहन ध्यानी वन कर्मियों के साथ मौके पर पहुंचे। लोगों के हो हल्ला करने और वन कर्मियों के हवाई फायर करने पर हाथी कॉलोनी के अन्य आवासों के बीच पहुंच गया। इससे लोगों में भगदड़ मच गई, उन्होंने सुरक्षित स्थान पर भागकर जान बचाई। वन कर्मियों ने दो घंटे की मशक्कत से किसी प्रकार हाथियों को जंगल में खदेड़ा।

उधर, दुगड्डा-कोटद्वार राजमार्ग पर सिद्धबली मंदिर के पास खोह नदी में भी हाथियों का झुंड उतर आया। हाथियों को देखने के लिए राहगीरों का जमावड़ा लग गया। लोग सड़क पर वाहनों को खड़ा कर हाथियों की तस्वीरें लेने लगे, जिससे हाईवे पर जाम की स्थिति पैदा हो गई।

सुबह करीब 11 बजे हाथियों का एक झुंड पास के जंगल से निकलकर खोह नदी में जलक्रीड़ा करने लगा। हाईवे से गुजर रहे राहगीरों और पर्यटकों की नजर पड़ी तो वह इनको देखने के लिए रुक गए। देखते ही देखते सड़क किनारे वाहनों की लंबी कतार लग गई। हाईवे पर पूरी तरह से जाम लग गया। सैकड़ों राहगीर और पर्यटक हाथियों को देखने लगे। कई लोगों ने इनकी तस्वीरें अपने कैमरों और मोबाइल में कैद कीं।

रिमझिम बारिश के बीच हाथियों ने करीब एक घंटे तक नदी में जलक्रीड़ा की। सूचना पर वनकर्मी भी मौके पर पहुंच गए। रेंज अधिकारी एसपी कंडवाल ने बताया कि इन दिनों हाथियों का एक बड़ा झुंड आसपास के जंगल में आया हुआ है। करीब एक घंटे तक नदी में नहाने के बाद हाथी जंगल की तरफ चले गए।