ढाका आतंकी हमला : भारतीय किशोरी का शव आज लाया जाएगा दिल्ली

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बताया कि ढाका के एक रेस्त्रां पर इस्लामी आतंकवादियों के हमले में मारे गए लोगों में शामिल तारिषी जैन नामक एक भारतीय किशोरी का शव सोमवार को दिल्ली लाया जाएगा।

विदेश मंत्री ने ट्विटर पर पोस्ट किया, ‘यह एक वीभत्स हत्या का मामला है – एक अप्राकृतिक मौत है। कुछ कानूनी कार्रवाइयों को किया जाना बाकी है।’ सुषमा स्वराज ने बताया कि तारिषी का शव सोमवार को विमान के जरिए दिल्ली लाया जाएगा। ‘यह तारिषी के पिता की सहमति से हो रहा है।’

उन्होंने बताया, ‘परिवार फिर तारिषी के शव को फिरोजाबाद (उत्तर प्रदेश) ले जाएगा।’ यहां के अधिकारियों के मुताबिक, यूसी बर्कले यूनीवर्सिटी की छात्रा तारिषी ढाका में छुट्टियां मनाने गई थी। उसके पिता बांग्लादेश में पिछले 15-20 सालों से कपड़ों का कारोबार कर रहे हैं। सुषमा ने कहा कि दुख की इस घड़ी में देश तारिषी के परिवार के साथ है और उनके लिए वीजा की व्यवस्था कर दी गई है।

ढाका के राजनयिक क्षेत्र में स्थित होले आर्टिजन बेकरी पर शुक्रवार रात हुए आतंकी हमले के जवाब में कमांडो जवाबी कार्रवाई शुरू करते इससे पहले आतंकवादियों ने बेकरी के अंदर आठ इतालवी नागरिकों, सात जापानी और भारतीय छात्रा सहित 20 विदेशी नागरिकों की नृशंस हत्या कर दी थी।

बहरहाल, कार्रवाई में छह हमलावरों के मारे जाने और एक को जिंदा पकड़ने के साथ ही बांग्लादेश में अब तक का सबसे भयानक आतंकी हमला खत्म हो गया। अभियान के बाद बेकरी परिसर में तलाशी के दौरान हमले के शिकार हुए लोगों के शव बरामद हुए।