आज है सोमवती अमावस्या, स्नान का शुभ मुहूर्त जानने के लिए यहां क्लिक करें

सोमवार को आर्द्रा नक्षत्र में सोमवती अमावस्या का स्नान शुरू हो गया। रविवार की रात मृगशिरा नक्षत्र समाप्त होते ही मुहूर्त प्रारंभ हो गया। सोमवार को शाम 6.32 बजे तक स्नान का मुहूर्त बना रहेगा।

रविवार रात 8.04 बजे मृगशिरा नक्षत्र समाप्त हुआ और आर्द्रा नक्षत्र लग गया। चंद्रमा के रात नौ बजे मिथुन राशि में प्रवेश करते ही मुहूर्त शुरू हुआ। यह पर्व काल सोमवार की देर शाम तक बना रहेगा। परिणाम स्वरूप रविवार की रात से स्नान शुरू हो गया।

सोमवती अमावस्या पर स्नान, दान और श्राद्घ का विशेष महत्व है। सुबह गंगा स्नान कर हजारों महिलाएं नगर में फैले पीपल के वृक्षों की 108 परिक्रमाएं करेंगी। अनेक प्रकार के पदार्थ दान दिए जाएंगे।

महिलाएं हरकी पैड़ी सहित गंगा तटों पर उद्यापन भी करेंगी। कुशावर्त और नारायणी शिला पर नारायणी पितृ कर्म संपन्न कराए जाएंगे। स्नान के लिए यात्रियों का हरिद्वार आना रविवार शाम से शुरू हो गया। पंजाब, राजस्थान, दिल्ली और जम्मू कश्मीर से अधिक संख्या में यात्री पहुंचे हैं।