उत्तराखंड के लोकप्रिय पर्यटन स्थलों में से एक झीलों की नगरी नैनीताल में पिछले तीन दिनों में 315 मिलीमीटर बारिश हो चुकी है। एक अधिकारी ने बताया कि गर्मी के मौसम में पर्यटकों से आबाद रहने वाले नैनीताल में पिछले 72 घंटों से मूसलाधार बारिश हो रही है। शहर में पिछले 24 घंटों के दौरान 98 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई।

बारिश के कारण लोकप्रिय और खूबसूरत नैनी झील का जलस्तर भी बढ़ा है और इसके कारण पर्यटकों की संख्या और व्यापार पर काफी प्रभाव पड़ा है।

साथ ही तापमान में भी गिरावट दर्ज हुई है। स्थानीय मौसम विभाग का कहना है कि नैनीताल में अधिकतम तापमान 20 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान नौ डिग्री सेल्सियस के करीब दर्ज किया गया। हालांकि, आद्रता का प्रभाव भी बना हुआ है।

राज्य में बरस रही आफत की बारिश का असर न सिर्फ आपदा वाले इलाकों पर पड़ा है बल्कि हिल स्टेशनों से गुलजार रहने वाली वादिंयों से भी सैलानीयों ने दूरी बना ली है। वहीं पर्यटन से जुड़े कारोबारी ईद की छुट्टियों से उम्मीद लगाए बैठे हैं।

आफत की बारिश का असर अब पर्यटन स्थलों पर भी देखने को मिल रहा है। सैलानीयों से गुलजार रहने वाली सरोवर नगरी से पर्यटक जाने लगे हैं, मालरोड हो चाहे बैंड स्टैंड पर्यटकों की कमी साफ देखी जा रही है। वही पर्यटकों की नावों से गुलजार रहने वाली नैनीझील में भी सैलानीयों का टोटा दिखाई दे रहा है।